साइबर क्राइम का शिकार हुए शिक्षक, SBI के सैलरी खाते से अपराधियों ने उड़ाये 8.25 लाख

सरकार और बैंक अक्सर लोगों को जागरूक करते हैं कि बैंक खाते से जुडी कोई भी जानकारी किसी भी व्यक्ति से साझा न करें. लेकिन जब बिना किसी से जानकारी साझा किए ही पैसे अकाउंट से गायब हो जाए तो इसमें किसकी गलती है. दरअसल मामला छपरा से सामने आया है. जहां एक शिक्षक साइबर क्राइम का शिकार हुआ है. जानकारी अनुसार जिले के अमनौर थाना क्षेत्र के एक नियोजित शिक्षक के बैंक अकाउंट से साइबर अपराधियों ने लाखों रुपए उड़ा लिए. अपहर गांव के देवलाल राम के पुत्र दशरथ राम प्राथमिक विद्यालय खरीदहा में सहायक शिक्षक के रूप में कार्यरत हैं.

 

उन्होंने थाने में दिए शिकायत में बताया कि उनका सैलरी खाता SBI की अमनौर शाखा में है. उन्‍होंने जरूरी काम के लिए बैंक से 3 जून 2021 को 7.50 लाख रुपये का पर्सनल लोन लिया था. बैंक खाते में लोन के अलावा तीन महीने का वेतन और पहले का पैसा मौजूद था. इस तरह उनके अकाउंट में कुल मिलाकर 8.25 लाख रुपये थे. उन्‍होंने बताया कि पैसा निकालने के लिए जब वह गुरुवार को बैंक गए तो बैंक कर्मी ने बताया कि मेरे खाते में एक भी रुपया नहीं है.

 

ये बात सुनकर शिक्षक दंग रह गए. उनकी मानें तो उनके बैंक अकाउंट से मोबाइल नंबर भी जुड़ा हुआ है, लेकिन 3 जून 2021 से मोबाइल पर एसएमएस आना बंद हो गया था. इस अवधि में दशरथ ने अपने खाते से पैसे भी नहीं निकाले थे. शिक्षक ने जब इसकी शिकायत ब्रांच मैनेजर को दी तो उन्होंने स्टेटमेंट निकलकर चेक किया. पीड़ित शिक्षक ने बताया कि वह इससे पहले भी वह पैसा निकालने के लिए बैंक शाखा में गए थे, लेकिन कर्मचारी ने बताया कि मेरा खाता होल्‍ड पर है, इसलिए पैसे की निकासी नहीं की जा सकती है. खाते से पैसे गायब होने की खबर से शिक्षक का पूरा परिवार सदमे में है. और पुलिस से जांच की मांग कर रहे हैं.

 

सरकार और बैंक अक्सर लोगों को जागरूक करते हैं कि बैंक खाते से जुडी कोई भी जानकारी किसी भी व्यक्ति से साझा न करें. लेकिन जब बिना किसी से जानकारी साझा किए ही पैसे अकाउंट से गायब हो जाए तो इसमें किसकी गलती है. दरअसल मामला छपरा से सामने आया है. जहां एक शिक्षक साइबर क्राइम का शिकार हुआ है. जानकारी अनुसार जिले के अमनौर थाना क्षेत्र के एक नियोजित शिक्षक के बैंक अकाउंट से साइबर अपराधियों ने लाखों रुपए उड़ा लिए. अपहर गांव के देवलाल राम के पुत्र दशरथ राम प्राथमिक विद्यालय खरीदहा में सहायक शिक्षक के रूप में कार्यरत हैं.

 

उन्होंने थाने में दिए शिकायत में बताया कि उनका सैलरी खाता SBI की अमनौर शाखा में है. उन्‍होंने जरूरी काम के लिए बैंक से 3 जून 2021 को 7.50 लाख रुपये का पर्सनल लोन लिया था. बैंक खाते में लोन के अलावा तीन महीने का वेतन और पहले का पैसा मौजूद था. इस तरह उनके अकाउंट में कुल मिलाकर 8.25 लाख रुपये थे. उन्‍होंने बताया कि पैसा निकालने के लिए जब वह गुरुवार को बैंक गए तो बैंक कर्मी ने बताया कि मेरे खाते में एक भी रुपया नहीं है.

 

ये बात सुनकर शिक्षक दंग रह गए. उनकी मानें तो उनके बैंक अकाउंट से मोबाइल नंबर भी जुड़ा हुआ है, लेकिन 3 जून 2021 से मोबाइल पर एसएमएस आना बंद हो गया था. इस अवधि में दशरथ ने अपने खाते से पैसे भी नहीं निकाले थे. शिक्षक ने जब इसकी शिकायत ब्रांच मैनेजर को दी तो उन्होंने स्टेटमेंट निकलकर चेक किया. पीड़ित शिक्षक ने बताया कि वह इससे पहले भी वह पैसा निकालने के लिए बैंक शाखा में गए थे, लेकिन कर्मचारी ने बताया कि मेरा खाता होल्‍ड पर है, इसलिए पैसे की निकासी नहीं की जा सकती है. खाते से पैसे गायब होने की खबर से शिक्षक का पूरा परिवार सदमे में है. और पुलिस से जांच की मांग कर रहे हैं.

Input: DTW24

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.