पंचायत चुनाव का खेला-बेला, पत्नी को मुखिया बनाने के लिए पति ने खुद का कराया अपहरण, पुलिन ने दबोचा

मुखिया प्रत्याशी पत्नी काे जिताने के लिए पति ने रची खुद के अपहरण की साजिश, खबर मिली ताे पुलिस हरकत में अाई अाैर पटना से किया गिरफ्तार, पंचायत चुनाव }सीवान के बड़हरिया में दीनदयालपुर सलाहपुर पंचायत का मामला, पुलिस के सामने स्वीकारा अपराध : जीबीनगर थाना क्षेत्र में मुखिया पद के लिए खड़ी महिला प्रत्याशी के पति ने पत्नी को चुनाव जिताने के लिए ऐसी साजिश रची कि पुलिस भी अचंभे में आ गयी। बड़हरिया प्रखंड की दीनदयालपुर सलाहपुर पंचायत से मुखिया का चुनाव लड़ रही महिला प्रत्याशी फूलपति देवी के पति फुलेश्वर यादव ने सहानुभूति वोट पाने के लिए खुद के ही अपहरण की साजिश रच डाली।

आचार संहिता के दौरान अपहरण की यह खबर वायरल होने के बाद हरकत में आयी पुलिस ने उसे उसके चचेरे भाई के साथ शनिवार को पटना के एक गेस्ट हाउस से गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्त में आने के बाद उसने पुलिस के सामने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया है। सुबह अपहरण की सूचना मिलने के बाद नाराज लोगों ने जीबीनगर थाने का घेराव किया और करीब दो घंटे तक हंगामा किया।

 

फिल्मी अंदाज में रची गई थी साजिश, सहानुभूति वोट लेने का था प्लान

शातिर फुलेश्वर ने जो कहानी रची थी उसके अनुसार खुद के अपहरण की अफवाह फैलाने के एक-दो दिन बाद किसी थाने या पुलिस चौकी के सामने वह बेहोशी की हालत में पड़ा पाया जाता। पुलिस जब उसे कब्जे में लेती तो लोगों को यह लगता कि विरोधियों ने वाकई में फुलेश्वर का अपहरण कर लिया था। उसे यह उम्मीद थी कि ऐसा होने के बाद गांव के वोटरों सहानुभूति हो जाएगी और उसकी पत्नी को वोट मिलेंगे।

 

रिश्तेदार ने ही पकड़ाने में की मदद| थानाध्यक्ष ने बताया कि अपहृत ने सोची-समझी साजिश के तहत अपहरण का ड्रामा रचा था। उसे सकुशल उसके चचेरे भाई के साथ उसके ही रिश्तेदार के सहयोग से पटना स्थित गेस्ट हाउस से हिरासत में ले लिया गया है।

 

बाइक खड़ी कर गया था पटना|शातिर फुलेश्वर ने अपनी बाइक अफराद मोड़ पर लावारिस हालात में खड़ी कर दी थी और पटना चला गया था। पटना स्थित एक गेस्ट हाउस से उसने स्वजनों को फोन पर हाई वोल्टेज ड्रामा करते हुए अपहरण की बात बताई थी।

Input: Daily Bihar

 

 

 

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.