बिहार सहित देश भर में गहराया बिजली संकट, कोयले के अभाव में कभी भी ठप हो सकती है बिजली उत्पादन

बिहार सहित देश भर में गहराया बिजली संकट, कोयले के अभाव में कभी भी ठप हो सकती है बिजली उत्पादन : दुर्गा पूजा होने के बाद भी बिहार में बिजली संकट कम होने का नाम नहीं ले रहा। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इसके पीछे कोयला का अभाव बाताया जा रहा है। कहा जा रहा है कि अगर स्थिति में याथा संभव सुधार नहीं हुआ तो देश भर में बिजली संकट उत्पन हो सकती है।सतर्क : बिजली संकट की आहट पर केजरीवाल का पीएम को पत्र

 

बिजली संयंत्रों के स्टॉक में कोयले की कमी के चलते दिल्ली में बिजली संकट का खतरा मंडराने लगा है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बिजली संकट की आहट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर कहा कि कई संयंत्रों में एक-एक दिन का स्टॉक शेष है। ऐसे में बिजली संयंत्रों को तत्काल कोयला आपूर्ति सुनिश्चित की जाए।

 

मुख्यमंत्री ने कहा, बीते तीन माह से बड़े बिजली उत्पादन संयंत्रों में कोयले की कमी है। केंद्रीय विद्युत विनियामक आयोग (सीईआरसी) का टैरिफ रेगुलेशन कहता है कि संयंत्रों में कम से कम 10 दिन का कोयला स्टॉक होना चाहिए। कोयले की आपूर्ति समय पर नहीं हुई तो बिजली संकट गहरा सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा, ऐसी कई सेवाएं हैं जहां निर्बाध बिजली आपूर्ति जरूरी है। इनमें कोविड मरीजों का इलाज, अस्पताल और कोविड टीके के लिए बनाई गई कोविड चेन आदि शामिल हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री से अपील की कि वह इस मामले को खुद देखें।

 

40 कोल ब्लॉक की नीलामी

 

40 कोल ब्लॉक की नीलामी की प्रक्रिया शुरू होने जा रही है। कोयला मंत्रालय की ओर से यह संकेत दिए गए हैं। इनमें झारखंड सहित सभी कोयला बहुल राज्यों ओडिशा, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र आदि के कोल ब्लॉक शामिल होंगे। ब्योरा

 

केंद्र से आपूर्ति का भरोसा

 

केंद्र ने दिल्ली सरकार को आश्वस्त किया कि वह बवाना व प्रगति स्टेशनों को जरूरी गैस की आपूर्ति करेगी। एनटीपीसी को कोयला स्टॉक बढ़ाने का निर्देश दिया है। वहीं, कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि देश में स्थिति तीन-चार दिन में ठीक हो जाएगी।

 

input:daily bihar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.