देश की सबसे सस्ती एयरलाइन Akasa बनाएंगे अरबपति राकेश झुनझुनवाला, 4 साल में शुरू हो जाएंगी उड़ानें

उन्होंने एक हालिया इंटरव्यू में इस बात का खुलासा किया है. उनका मानना है कि इस एयरलाइन के जरिए ज्यादा से ज्यादा लोग हवाई यात्रा कर पाएंगे. यह एयरलाइन 4 साल में तैयार हो जाएगी.Akasa Airline: अरबपति राकेश झुनझुनवाला ने खुलासा किया है कि वे अगले चार साल में भारत में अल्ट्रा-लो-कॉस्ट एयरलाइन अकासा एयर (Akasa Air) स्थापित कर देंगे. वे इस एयरलाइन में 40% हिस्सेदारी रखेंगे और उसके लिए इसमें 260 करोड़ रुपये ($ 35 मिलियन) का निवेश करेंगे. इस एयरलाइन में 70  विमान रखने की योजना है. हर विमान में 180 यात्रियों को ले जाने की क्षमता होगी. झुनझुनवाला के मुताबिक इस एयरलाइन की स्थापना के बाद देश के अधिक से अधिक लोग हवाई यात्रा कर सकेंगे. राकेश झुनझुनवाला को भारत के ‘वारेन बफेट’ के रूप में भी जाना जाता है. 

 

राकेश झुनझुनवाला ने बुधवार को एक टेलीविजन इंटरव्यू में कहा कि नई एयरलाइन को अगले 15 दिनों के भीतर भारत के उड्डयन मंत्रालय से अनापत्ति प्रमाण पत्र (NOC) मिलने की उम्मीद है. झुनझुनवाला एक ऐसे बाजार में एयरलाइन बनाने का जोखिम उठा रहा है, जहां पिछले कुछ सालों में कई एयरलाइंस किराए और उच्च लागत के कारण विफल हो गई हैं.

 

झुनझुनवाला ब्रांड न्यू कैरियर्स में कम कीमत पर यात्रियों को लुभाने के लिए टीम के साथ मिलकर काम कर रहे हैं. इस टीम में डेल्टा एयरलाइन्स इंक के एक पूर्व वरिष्ठ कार्यकारी भी शामिल हैं. झुनझुनवाला ने ब्लूमबर्ग टेलीविजन को बताया, “एक कंपनी की संस्कृति मितव्ययी होने के लिए आपको नए सिरे से शुरुआत करनी होगी. मैं मांग के मामले में भारत के विमानन क्षेत्र पर बहुत आशावादी हूं. मुझे लगता है कि इस क्षेत्र के कुछ इंक्रीमेंट प्लेयर रिकवर नहीं हो सकते हैं. मुझे दुनिया के कुछ बेहतरीन एयरलाइंस के लोग साझेदार के रूप में मिले हैं.”

 

भारत में एयरलाइंस महामारी से पहले ही संकट से जूझ रही थीं. देश की दूसरी सबसे बड़ी घरेलू वाहक किंगफिशर एयरलाइंस लिमिटेड ने 2012 में परिचालन बंद कर दिया था. इसके अलावा जेट एयरवेज इंडिया लिमिटेड को हाल ही में परिचालन फिर से शुरू करने के लिए अनुमोदित किया गया था, वह 2019 में दिवालिया हो गई थी.

 

कोरोना महामारी की तीसरी लहर के खतरे के कारण भारत का विमानन उद्योग बुरी तरह प्रभावित हो रहा है. ऐसे में हवाई यात्रा की वैश्विक मांग बुरी तरह प्रभावित हुई है. झुनझुनवाला भारत में ऐसे समय में एक नई एयरलाइन शुरू कर रहे हैं, जब सिंगापुर एयरलाइंस लिमिटेड और टाटा समूह के सह-स्वामित्व वाली विस्तारा एयरलाइन, विमान निर्माता बोइंग कंपनी और एयरबस एसई के साथ विमान की डिलीवरी में देरी और भुगतान कार्यक्रम बदलने के लिए बातचीत कर रही है. भारत की सबसे बड़ी एयरलाइन इंडिगो ने कोविड के कारण अनुमान से अधिक नुकसान की जानकारी दी है.

 

कौन हैं अरबपति राकेश झुनझुनवाला

फोर्ब्स के अनुमान के मुताबिक राकेश झुनझुनवाला 28 जुलाई तक 4.6 बिलियन डॉलर की संपत्ति के साथ दुनिया के 656वें सबसे अमीर व्यक्ति हैं. निवेशक राकेश झुनझुनवाला को भारत का ‘वारेन बफेट’ कहा जाता है. झुनझुनवाला ने कॉलेज में रहते हुए ही स्टॉक में हाथ आजमाना शुरू कर दिया था.

 

1985 में जब बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज इंडेक्स 150 था, तब उन्होंने 100 डॉलर से निवेश करना शुरू किया था; यह अब 52,000 से अधिक पर कारोबार कर रहा है. टाटा समूह के स्वामित्व वाली घड़ी और आभूषण निर्माता टाइटन उनकी सबसे मूल्यवान सूचीबद्ध होल्डिंग है. झुनझुनवाला के पास स्टार हेल्थ इंश्योरेंस, मेट्रो ब्रांड्स और कॉनकॉर्ड बायोटेक जैसी निजी तौर पर आयोजित कंपनियों में भी स्टॉक हैं.

 

input:ABP news

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.