बिहार: गांवों में बच्चों को मुफ्त शिक्षा दे रही अफसरों की टोली, दो IAS भी लेते हैं क्लास

ग्रामीण क्षेत्र में सैकड़ों या कहे तो हज़ारों ऐसे बच्चे होते है जो किसी न किसी कारन से स्कूल से वंचित हो जाते है, लेकिन गरीब परिवार के बच्चों को एक बेहतर शिक्षा मिलने की उम्मीद जगी है। गोपालगंज जिले के सरकारी अफसरों की टीम ने ‘AIM’ नाम से पाठशाला विकसित किया है। ‘AIM’ का मतलब उद्देश्य है जिसका मकसद हर बच्चे को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देना है। एक दर्जन से ज्यादा बड़े अफसरों का कारवां बन चुका है।

 

 

 

युवा अधिकारी की टीम में दो आईएएस (IAS Officer) और एक कमांडेंट शामिल हैं, य़ह अफसरों की एक ऐसी टीम है, जो ग्रामीण इलाकों में बच्चों के बीच शिक्षा का अलख जगा रही है। ये अधिकारी अपनी ड्यूटी से हटकर थोड़ा समय आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों के बीच व्यतीत करते है, साथ ही उन्हें अलग तरीके से पढ़ाने की कोशिश करते हैं।

 

इस एम पाठशाला में ग्रामीण इलाकों के आर्थिक रूप से कमजोर मेधावी छात्रों को मुफ्त शिक्षा दी जाती है ताकि उनकी प्रतिभा कुंठित ना हो, पाठशाला सुबह सात से नौ बजे तक चलती है। इसमें क्लास एक से 10 तक के बच्चे शामिल हो सकते हैं। यहां बच्चों को उनके सामान्य कोर्स के अलावा नवोदय, नेतरहाट और सैनिक स्कूल में प्रवेश की तैयारी कराने पर फोकस किया जाता है।

 

बता दे कि ‘AIM’ पाठशाला गोपालगंज के साथ ही समस्तीपुर, औरंगाबाद तथा अरवल में भी चल रही है। बहुत ही जल्द इस मुहीम को सभी जिले और ब्लॉक स्तर पहुंचने का लक्ष्य है।

 

 

Input: Daily Bihar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.