बिहार के ‘करामाती चूहों’ ने अब रेलवे को लगाया चूना, बेटिकट यात्रा करने को मजबूर हुए यात्री

औरंगाबाद. बिहार में चूहे एक बार फिर से चर्चा में हैं. इस बार चूहों ने न तो शराब पी है और न ही किसी सरकारी बांध को कुतर कर नकुसान पहुंचाया है. इस बार उनका निशाना रेलवे (Indian Railway) बना है जिसको ये करामाती चूहे (Rat Cut) राजस्व का चूना लगा रहे हैं. मामला बिहार के औरंगाबाद (Aurangabad) जिले से जुड़ा है जहां के फेसर रेलवे स्टेशन पर चूहों ने टिकट बुकिंग से जुड़े कंप्यूटरों के तारों को कई जगहों पर कुतर दिया है.

 

 

चूहों की इस करामात के नतीजन यहां से यात्रियों को यात्रा करने के लिए रेलवे चाहकर भी टिकट नहीं दे पा रहा है, ऐसे में यात्रियों को कहीं आने जाने में मुश्किलें हो रही हैं या फिर उन्हें बेटिकट ही अपनी यात्रा करने को मजबूर होना पड़ रहा है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक सोमवार की सुबह से ही फेसर रेलवे स्टेशन पर टिकट बुकिंग का कार्य फिलहाल बन्द है क्योंकि सिस्टम ऑन ही नहीं हो रहा है. यात्री ट्रेनों के नियत समय पर स्टेशन पहुंच रहे हैं और जब टिकट लेने काउंटर तक पहुंच रहे हैं तो उन्हें पता चल रहा है कि टिकट काउंटर से टिकट नहीं दी जा रही है.

 

यात्री इसे स्टेशन प्रबंधन की घोर लापरवाही बता रहै हैं और वैकल्पिक व्यवस्था के तहत टिकट दिये जाने की मांग कर रहे हैं. यात्रियों ने बताया कि प्रबंधन सिस्टम का रख-रखाव सही तरीके से नहीं करते हैं अन्यथा ऐसी नौबत ही नहीं आती. इस मामले पर स्टेशन प्रबंधक से जब बात की गयी तब उन्होंने चूहों के द्वारा सिस्टम का तार काट दिये जाने की बात कही और बताया कि इसकी सूचना वरीय अधिकारियों को दे दी गयी है.

 

उन्होंने कहा कि अल्पकालिक व्यवस्था के तहत पास के एएन रोड रेलवे स्टेशन तथा जाखिम रेलवे स्टेशन पर टिकट लेने के लिये 10 मिनट तक ट्रेनों के ठहराव का प्रबंध किया गया है ताकि यात्री वहां से टिकट ले सकें. उन्हें वहां से टिकट उपलब्ध कराया जाएगा ताकि उन्हें यात्रा में कोई परेशानी नहीं हो. उन्होंने जल्द ही इस समस्या को दूर कर लिए जाने की बात भी कही.

 

 

Input: Daily Bihar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.