विधायक की लव स्टोरी, शादी के नौ दिन बाद पति को मा’र डाला, ह’त्या के आरोपी को हराकर 2 बार बनी MLA

शादी के 9 दिन बाद ही हो गई थी पति की हत्या, झाड़ू-पोंछा करने वालीं पूजा पर कभी मायावती तो कभी अखिलेश यादव ने जताया विश्वास : यूपी देश का सबसे बड़ा राज्य है। कहा जाता है कि दिल्ली में सरकार किसकी बनेगी यह यूपी ही तय करता है। यूपी ने देश को कई बार प्रधानमंत्री दिये तो वहीं यह राज्य राजनीति में अपराध के लिए भी खूब चर्चा में रहा। ऐसा ही एक चर्चित कांड था प्रयाग राज का राजू पाल हत्याकांड। इस हत्याकांड में नाम आया था मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) के पूर्व सहयोगी अतीक अहमद (Ateeq Ahmed) और उनके भाई का। राजू पाल की हत्या के बाद उनकी विधवा पर मायावती (Mayawati) और अखिलेश यादव (Akhielsh Yadav) ने बारी-बारी से भरोसा जताया:

25 जनवरी 2005 को तत्कालीन बसपा विधायक राजू पाल को दिनदहाड़े गोलियों से भून डाला गया था। इस मर्डर ने पूरे शहर को हिंसा की आग में झोंक दिया था। इलाहाबाद पश्चिम सीट से विधायक रहे राजू पाल के मर्डर के बाद उनकी राजनीतिक विरासत पत्नी पूजा पाल ने संभाली। मायावती ने खुद प्रयागराज पहुंच पूजा पाल को बसपा से विधानसभा का टिकट सौंपा था।

 

 

 

पूजा पाल दो बार बसपा से विधायक रहीं। उसके बाद 2017 में पूजा बसपा से समाजवादी पार्टी में शामिल हो गईं। अखिलेश यादव ने भी उनपर विश्वास जताया और 2019 में लोकसभा का टिकट सौंपा।पूजा पाल बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखती हैं। उनके पिता पंचर की दुकान चलाया करते थे। पूजा खुद कभी किसी अस्पताल में तो कभी किसी दफ्तर को कभी किसी के घर में झाड़ू पोंछा करके अपना गुजारा करती थीं।

 

किसी अस्पताल में ही उनकी मुलाकात राजू पाल से हुई थी। दोनों में प्यार हुआ और फिर विधायक बनने के बाद राजू पाल ने पूजा से शादी कर ली।हालांकि नियति को कुछ और ही मंजूर था।16 जनवरी 2005 को शादी के 9 दिन बाद 25 जनवरी 2005 को ही पूजा पाल का सुहाग उजड़ गया। पति की हत्या के बाद जिस तरह से पूजा पाल ने अपनी राजनीति आगे बढ़ाई उसने बाहुबली अतीक अहमद के साम्राज्य का पतन ही कर दिया।

 

 

 

Input: Daily Bihar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.