बिहार में शिक्षक, प्रधान शिक्षक और प्रधानाध्‍यापक के 86 हजार पदों पर होगी बहाली

बिहार में शिक्षक, प्रधान शिक्षक और प्रधानाध्‍यापक के 86 हजार से अधिक पदों पर बहाली होगी- बिहार में पंचायत चुनाव खत्‍म होते ही शिक्षक बनने के इक्षुक उम्मीदवारों के लिए बड़ी भर्ती आने वाली है । राज्य में शिक्षक, प्रधान शिक्षक और प्रधानाध्‍यापक मिलकर 86  हजार से अधिक पदों के भरा जायेगा ।

 

बिहार में पंचायत चुनाव दिसंबर में खत्‍म होते ही शिक्षक बहाली की प्रक्रिया तेज हो जाएगी। चुनाव के तुरंत बाद 94 हजार प्रारंभिक शिक्षकों की पहले से चल रही बहाली प्रक्रिया को पूर्ण किया जायेगा। इसके बाद माध्‍यमिक एवं उच्‍च माध्‍यमिक विद्यालयों में 30 हजार से अधिक पदों पर शिक्षकों की बहाली की प्रक्रिया भी शुरू होगी।

 

राज्‍य के माध्‍यमिक विद्यालयों में पांच हजार से अधिक प्रधानाध्‍यापक के पदों और प्रारंभिक विद्यालयों में 40 हजार से अधिक प्रधान शिक्षक के पदों पर बहाली बिहार लोक सेवा आयोग यानि बीपीएससी के माध्यम से होगी । इस संबंध में विज्ञापन शीघ्र ही प्रकाशित होने की संभावना है।

 

हालाँकि 94 हजार प्रारंभिक शिक्षकों की बहाली प्रक्रिया पंचायत चुनाव को लेकर अभी तक पूरी नहीं की जा सकी है । जानकारी के लिए आपको बता दे कि 13 सौ नियोजन इकाइयां शेष हैं, जहां 14350 शिक्षक पद के लिए काउंसिलिंग बाकी है। यह काउंसलिंग अब पंचायत चुनाव के बाद करायी जाएगी।

 

पंचायत चुनाव के चलते राज्य के माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों में 30020 पदों पर बहाली प्रक्रिया पर भी रोक लगी है। यह बहाली भी अब पंचायत चुनाव के बाद शुरू होगी।  बताया जा रहा है की चुनाव के तुरंत बाद पिछले भर्ती और नए भर्ती के काम को तेज किया जा सकता है ।

 

राज्य में नवस्थापित उच्च माध्यमिक विद्यालयों में 5334 प्रधानाध्यापकों और प्रारंभिक विद्यालयों में 40518 प्रधान शिक्षकों की  बहाली का जिम्मा बिहार लोक सेवा आयोग उठा रही है जिसके लिए कवायद तेज हो गई है। पंचायत चुनाव के बाद इन पदों के विरुद्ध सीधी बहाली हेतु बिहार लोक सेवा आयोग को अधियाचना भेजी जाएगी।

 

शिक्षा विभाग की ओर से प्रमंडलीय आयुक्तों से प्रधानाध्यापकों के सृजित पदों का रोस्टर क्लियर कर रिपोर्ट की मांग की गई है। इसके साथ साथ विभाग ने जिलाधिकारियों को प्रधान शिक्षकों के पदों का रोस्टर क्लियर कर रिपोर्ट देने को कहा है और जल्द इस काम को पूरा कर लिया जायेगा ।

 

प्रधानाध्यापकों और प्रधान शिक्षकों के सृजित पदों को वित्त विभाग द्वारा पहले ही मंजूरी मिल चुकी है। सात सितंबर को हुए मंत्रिमंडल की बैठक में उच्च माध्यमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापकों और प्रारंभिक विद्यालयों में प्रधान शिक्षकों के पद सृजन की मंजूरी मिली थी ।

 

input:daily bihar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.