Bihar में निकला एक और धनकुबेर इंजीनियर, निगरानी टीम की छापेमारी में 15 लाख कैश, आधा किलो सोना समेत 1 KG चांदी बरामद

पटना : निगरानी ब्यूरो ने एक बड़ी कार्रवाई करते हुए पथ निर्माण विभाग में कार्यपालक अभियंता के रूप में पदस्थापित कौन्तेय कुमार के यहां छापा मारा है। ब्यूरो ने इनपर आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का मामला दर्ज करते हुए यह कार्रवाई की है। समाचार लिखे जाने तक इनके यहां जांच जारी थी। इंजीनियर के मैनपुरा स्थित नित्यानंद अपार्टमेंट में हुई छापेमारी में निगरानी ब्यूरो ने 15.50 लाख रुपए नकद के अलावा आधा किलो सोना, एक किलो चांदी भी बरामद की है। जिसकी कीमत करीब 33.75 लाख रुपये आंकी गई है। के साथ-साथ जमीन में निवेश के कई दस्तावेज, करीब आठ बैंक पास बुक बरामद की है।




आय से 1.76 करोड़ की अवैध संपत्ति अर्जित की 
गुलजारबाग पथ निर्माण प्रमंडल में तैनात इंजीनियर कौन्तेय कुमार पर निगरानी की नजर लंबे समय से थी। तमाम सबूत जुटाने के बाद निगरानी की टीम ने सोमवार को इनके खिलाफ 1,76,82,920 रुपये की अवैध संपत्ति जुटाने का मामला निगरानी थाने में दर्ज किया।


दो बैंक लाकर भी मिले, फ्रिज कराए गए 
आज दोपहर के बाद निगरानी की टीम ने इनके गोसाई टोला स्थित नित्यानंद इंक्लेब अपार्टमेंट के फ्लैट संख्या 403 पर धावा बोला। टीम का नेतृत्व डीएसपी एस के मऊआर कर रहे थे। टीम को यहां से नकद, चांदी-सोने के जेवरात के साथ चल अचल संपत्ति में निवेश के दस्तावेज, दो बैंक लाकर का पता चला। बैंक लाकर और बैंक खातों को फ्रिज करा दिया गया है।


विभिन्न पालिसी में 30 लाख से ज्यादा का निवेश
निगरानी ब्यूरो के अनुसार इंजीनियर कौन्तेय कुमार ने विभिन्न संस्थानों में करीब 30 लाख रुपये से अधिक निवेश किए हैं। इन्होंने एलआइसी, एसबीआइ लाइफ, आइडीएफसी, रायल सुंदरम, जनरल इंश्योरेंस, बजाज एलियांज, एचडीएफसी, टाटा एआइए, आइसीआइसीआइ प्रूडेंशियल, निपोन इंडिया समेत कई संस्थानों में बड़ी रकम निवेश कर रखी है।


पत्नी के नाम भी जमीन के चार दस्तावेज हुए बरामद 
जांच के क्रम में इनकी पत्नी के नाम चार जमीन के दस्तावेज मिले। इनका एक फ्लैट बोरिंग रोड स्थित कृष्णा अपार्टमेंट में भी है। आठवीं मंजिल पर फ्लैट संख्या 82-83 को मिलाकर ये एक लग्जरी फ्लैट बना रहे थे। निगरानी ने इसकी कीमत करोड़ों में आंकी है। समाचार लिखे जाने तक तलाशी का काम जारी था।


वार्षिक संपत्ति विवरण में इस संपत्ति का जानकारी नहीं
बता दें कि वार्षिक संपत्ति विवरणी में इंजीनियर ने आज बरामद निवेश का कोई उल्लेख नहीं किया था। निगरानी ब्यूरो ने दावा किया कि जांच के क्रम में इनके पास से और अधिक संपत्ति बरामद होने की संभावना है।

INPUT: JNN

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.