अपने गांव में 12वीं करने वाली पहली आदिवासी लड़की ने नीट की परीक्षा में भी मारी बाजी

 

‘कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं हो सकता एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारों’ इस कहावत को सच कर दिखाया है कोयंबटूर की एक आदिवासी समुदाय की छात्रा एम सांगवी ने। एम सांगवी ने अपने दूसरे प्रयास में नीट-यूजी 2021 की परीक्षा पास कर आदिवासी समुदाय का नाम रोशन किया है। सांगवी का इस परीक्षा को पास करना उनके समुदाय और उनके गांव के लिए किसी ऐसे सपने के सच होने के जैसा है, जिसे उन्होंने देखने की कभी हिम्मत भी नहीं की।

 

 

19 वर्षीय सांगवी मदुकराई के मालासर आदिवासी समुदाय से आती हैं। इस गांव में 40 परिवार हैं। सांगवी अपने गांव की आदिवासी समुदाय की पहली ऐसी लड़की हैं जिन्होंने 12वीं की परीक्षा पास की थी।

 

सांगवी के परिवार की खुशी का आज कोई ठिकाना नहीं है। बेटी ने वो कर दिखाया है जिसकी उन्होंने कल्पना तक नहीं की थी। अपने दूसरे प्रयास में सांगवी ने नीट-यूजी की परीक्षा पास की है। इस परीक्षा में उन्होंने 202 अंक हासिल किए।

 

नीट की परीक्षा पास करने तक का सफर सांगवी के लिए बिल्कुल भी आसान नहीं था। सांगवी ने बताया कि कोरोना वायरस मे लगे लॉकडाउन में उनके पिता की मौत हो गयी। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के कारण ही उनकी मां ने आंशिक रूप से अपनी आंखों की रोशनी खो दी थी। तब उन्हें समझ आया कि उनके समुदाय को मेडिकल सुविधाओं की कितनी जरूरत थी। इसके बाद उन्होंने स्टेटबोर्ड की किताबों का उपयोग करके और एनजीओ की सहायता से नीट की परीक्षा पास की। बता दें कि अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों के लिए कट-ऑफ इस साल 108 से 137 के बीच है। सांगवी का मानना है कि इसके चलते उन्हें किसी सरकारी मेडिकल कॉलेज में मेडिकल की सीट मिल जाएगी।

 

नेपाल में भीख मांगती भारतीय लड़की की फर्राटेदार अंग्रेजी से इंप्रेस हुए अनुपम खेर, लड़की से किया ये वादा

 

मुंबई, 3 नवंबर। दोस्तों क्या आप अनुपम का अर्थ जानते हैं। दरअसल अनुपम का अर्थ होता है श्रेष्ठ, सर्वोत्तम, सबसे उत्तम। आपको अनुपम का अर्थ बताने का उद्देश्य आपको हिंदी पढ़ाना कतई नहीं है। हमने ऐसा इसलिए किया है क्योंकि अभिनेता अनुपम खेर ने आज अपने नाम के अनुरूप की सबसे उत्तम काम किया है, जिसको लेकर उनकी मीडिया में जमकर प्रशंसा हो रही है।

 

दरअसल अनुपम खेर ने अपने इंस्टाग्राम पर एक लड़की की वीडियो शेयर की है। इस लड़की से उनकी मुलाकात नेपाल में हुई। अनुपम जब नेपाल गए तो यह लड़की वहां भीख मांग रही थी, लेकिन जब अभिनेता ने उससे बात की तो वह धुआंधार अंग्रेजी बोलने लगी। इस लड़की का नाम आरती है। अनुपम खेर की आरती से मुलाकात काठमांडु में एक मंदिर के बाहर हुई। वह मूल रूप से राजस्थान की है। उसने मुझसे कुछ पैसे मांगे और मेरे साथ एक फोटो खिंचाने की इच्छा जताई और उसके बाद उसने मुझसे फर्राटेदार अंग्रेजी में बात करना शुरू कर दिया। मैं पढ़ाई के लिए उसकी रुचि देखकर चकित रह गया।

 

आरती अनुपम खेर से कहती हैं कि वह कभी स्कूल नहीं गई और यदि उसे स्कूल जाने का मौका मिले तो उसकी किस्मत बदल जाएगी। उसने अनुपम खेर से मदद मांगी। उसने कहा कि वह हमेशा लोगों से कहती हूं कि स्कूल जाने में मेरी मदद करें।

 

आरती की बातों से अनुपम खेर का दिल पिघल गया और उन्होंने उसी क्षण आरती से उन्हें स्कूल भेजने का वादा किया। उन्होंने आरती से उसकी पढ़ाई का पूरा खर्च उठाने का भी वादा किया।

 

 

 

Input: Daily Bihar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.