बस और रेल में सीटें फुल, फ्लाइट के भी किराये आसमान पर, मुश्किल हुआ छठ पर बिहार आना

छठ पर्व पर गांव आना अबकी बार प्रवासी के लिए आसान नहीं है. किराये आसमान पर तो हैं ही, लेकिन हाथ में पैसे के बावजूद लोगों को सीटें नहीं मिल पा रही हैं. बस, रेल और फ्लाइट सब में सीटें फुल हो चुकी हैं.

 

दरभंगा रेलवे स्टेशन से मिली जानकारी के अनुसार दूरगामी ट्रेनों में दरभंगा आने के लिए स्लीपर में भी आरक्षण उपलब्ध नहीं है. दरभंगा जंक्शन के टिकट आरक्षण केंद्र से प्राप्त जानकारी के अनुसार नई दिल्ली से दरभंगा आने वाली बिहार संपर्क क्रांति में 17 दिसंबर तक आरक्षण उपलब्ध नहीं है.

 

 

वहीं, स्वतंत्रता सेनानी मैं 14 दिसंबर तक तथा पवन एक्सप्रेस में मुंबई से इधर आने के लिए नौ दिसंबर तक आरक्षण उपलब्ध नहीं है. इसी तरह बेंगलुरु से आने के लिए ट्रेनों में सात दिसंबर तक तथा गरीब रथ में सात दिसंबर तक स्लीपर में आरक्षण उपलब्ध नहीं है. ऐसे में परदेसी विभिन्न महानगरों से छठ पर्व मनाने अपने घरों तक आने के लिए दूसरे विकल्पों पर ही आश्रित हो चुके हैं.

 

दूरगामी ट्रेनों में आरक्षण नहीं मिलने की स्थिति में आम लोग बसों की ओर जा रहे हैं, लेकिन वहां भी सीटें उपलब्ध नहीं हैं. जो लोग महानगरों से अपने गांव बस से आना चाहते हैं, उन्हें भी निराशा हाथ लग रही है. एक तो बसों का किराया ट्रेन से अधिक है. ट्रेन वाली सुविधा भी बसों में उपलब्ध नहीं हो पाती है. कई लोग बसों से घर पहुंचते-पहुंचते बीमार भी हो जाते हैं.

 

 

 

दरभंगा – नई दिल्ली का सामान्य किराया 900 से 1000 रुपये है, जबकि स्लीपर का किराया 15 सौ रुपए निर्धारित है. वहीं, एक यात्री के बिहार संपर्क क्रांति से स्लीपर में आरक्षण के साथ दरभंगा से नई दिल्ली जाने पर 560 रुपए किराया लगता है. पर्व के इस मौसम में 2000 रुपये तक किराया वसूला जा रहा है, फिर भी लोगों को सीटें नहीं मिल पा रही हैं. दिल्ली और कोलकाता से आनेवाली तमाम बसें फुल हो चुकी है.

 

इधर, ठंड और पर्व में यात्रियों की भीड़ को देखते हुए दरभंगा एयरपोर्ट से उड़ान भरने वाली फ्लाइटों के समय में परिवर्तन किया गया है. यह परिवर्तन 31 अक्टूबर से लागू हो गया है। स्पाइसजेट और इंडिगो की ओर से संचालित होने वाली दरभंगा से मुम्बई, बेंगलुरू, कोलकाता, दिल्ली व हैदराबाद की फ्लाइट पर यह परिवर्तन लागू किया गया है.

 

 

 

आम तौर पर दिल्ली और मुंबई से दरभंगा एयरपोर्ट का न्यूनतम किराया करीब 4 हजार रुपये के आस-पास रहता है, लेकिन इस माह के लिए टिकट अगर आप बुकिंग करेंगे तो जेब ज्यादा ढीली करनी होगी. दिल्ली से दरभंगा के लिए 31 अक्टूबर को स्पाइसजेट का टिकट करीब 7 हजार रुपये का रहा. 01 नवंबर को दिल्ली से दरभंगा की फ्लाइट के लिए किराया साढ़े पांच हजार रहा.

 

इसी तरह दो नवंबर को करीब 6 हजार रुपये, तीन नवंबर को साढ़े छह हजार, और दीपावली के दिन यानी 4 नवंबर को भी किराया साढ़े 6 हजार रहा. अगर आप 6,7 नवंबर को दिल्ली से दरभंगा एयरपोर्ट का टिकट लेने की सोच रहे हैं तो करीब 10 हजार रुपये खर्च करने होंगे. यही हाल मुंबई से दरभंगा का भी है. आठ नवंबर को करीब 12 हजार रुपये किराया चुकाना होगा.

 

 

Input: DTW24

 

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.