IPS शिवदीप लांडे के दिल में बसता है बिहार, जहां भी रहे छठ परमेश्वरी को अर्घ्य देना नहीं भूलते

बिहार कैडर के मराठी पुलिस अधिकारी शिवदीप लांडे के दिल में अब भी बिहार बसा हुआ है। तभी तो वो बिहार की सभ्यता और संस्कृति को नहीं भूलते हैं। वो जहां रहे छठ पर सूर्य भगवान को अर्घ्य अवश्य देते हैं। अर्घ्य देते हुए उन्होंने अपने फेसबुक वाल पर लिखा कि-लोकआस्था के पावन महापर्व ‘छठ’ के उपलक्ष्य में मुंबई के अपने सरकारी आवास से मैंने सूर्य देव को अर्घ्य दे कर प्रणाम किया। यूँ तो मैं कभी पूजा के दौरान कुछ व्यक्तिगत अभिलाषा नही रखता हूँ परन्तु आज बस एक ही ख्याल मेरे ज़ेहन में आया कि ‘छठ माँ’ अपने सभी संतानो को कोरोना के दुष्प्रभाव से सुरक्षित रखें और सभी को अच्छी सेहत का आशीर्वाद दें।

कौन हैं शिवदीप लांडे? : 1976 में विदर्भ के अकोला जिले में पैदा हुए शिवदीप लांडे पटना, अररिया, पूर्णिया और जमालपुर में रह चुके हैं। – एक किसान परिवार में जन्मे शिवदीप लांडे की परवरिश बेहद मुश्किल हालातों में हुई। शिवदीप की मां 7वीं तक पढ़ी थीं तो वहीं पिता तीन बार 10वी में फेल होने के बाद पढ़ाई छोड़ खेती किसानी करने लगे। शिवदीप लांडे दो भाइयों में से बड़े हैं। स्कॉलरशिप की मदद से शिववदीप लांडे ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद मुंबई में रहकर UPSC की तैयारी की थी। इसके बाद उन्होंने भारतीय राजस्व विभाग में भी नौकरी की थी। इसी बीच उनका UPSC में चयन हो गया।

बता दें कि लांडे की शादी महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और पुणे के पुरंदर से एमएलए विजय शिवतारे की बेटी ममता से हुई है। इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद शिवदीप ने मुंबई में रहकर यूपीएससी की तैयारी की। इस दौरान उनका एक बड़ा फ्रेंड सर्कल बन गया था। बिहार में तैनात होने के बावजूद शिवदीप अक्सर मुंबई अपने फ्रेंड्स से मिलने आते थे।शिवदीप द्वारा किए गए कामों की चर्चा बिहार समेत पूरे महाराष्ट्र में हो रही थी। कई महाराष्ट्रियन युवतियां भी उनकी फैन बन गई। एक फ्रेंड के घर पर आयोजित पार्टी में शिवदीप और ममता की पहली मुलाकात हुई। मुलाकात आगे चलकर पहले प्यार और फिर शादी में बदल गई। बता दें कि ममता की स्कूलिंग मुंबई में हुई है। उनका बचपन एक साधारण चॉल में बीता। ममता और शिवदीप की शादी 2 फरवरी 2014 को मुंबई में हुई थी। दोनों की एक बेटी भी है।

 

Input: Daily Bihar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.