छठ के बाद बिहार में एक बार फिर से लौटेगी रौनक, बिहार सरकार करेगा इन बड़े महोत्सव का आयोजन

राजधानी पटना के साथ-साथ अभी बिहार के अन्य जिलों में छठ महापर्व का त्यौहार चल रहा है। छठ महापर्व के त्यौहार के साथ-साथ बिहार में अब रौनक लौट रही है। इसी को देखते हुए बिहार प्रशासन ने एक बड़ा निर्णय लिया है। बता दें कि राज्य में लंबे समय के इंतजार के बाद अब सांस्कृतिक कार्यक्रम और मेलों का आयोजन फिर से किया जाएगा। इसके तहत छठ के तुरंत बाद बाल फिल्म महोत्सव से होगी। राजधानी के बिहार संग्रहालय के सभागार में 13 और 14 नवंबर को फिल्म महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। इसका उद्घाटन उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद करेंगे।

 

सहरसा में होगा युवा महोत्सव का आयोजन बता दें कि राज्य में लंबे समय से मेला और सांस्कृतिक महोत्सव के आयोजन पर रोक लगी हुई थी लेकिन अब बिहार का कला संस्कृति एवं युवा विभाग फिर से इन महोत्सव की तैयारी करने में लग गया है। जानकारी के अनुसार, कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के द्वारा पिछले दिनों सांस्कृतिक आयोजनों को लेकर समीक्षा बैठक भी की गई। इसमें वित्तीय वर्ष 2021-22 के बचे हुए सांस्कृतिक महोत्सवों के आयोजनों पर विमर्श हुआ है। इसमें राज्य-स्तरीय युवा महोत्सव का आयोजन सहरसा में करने पर सहमति बनी। इसके लिए 75 लाख रुपये अनुमानित खर्च किए जाएंगे।

 

मधुबनी और पटना में भी होंगे कई प्रकार के महोत्सव का आयोजन इसके साथ-साथ बिहार के मधुबनी जिले में भी कई महोत्सव के आयोजन पर सहमति बन चुकी है और जल्द ही इसके लिए कवायद शुरू हो जाएगी। इसके तहत शुक्रगुलजार और शनिबहार का आयोजन भी फिर से शुरू करने का निर्देश दिया गया है। इसके साथ साथ फरवरी में पद्मश्री हरि उप्पल शास्त्रीय नृत्य महोत्सव भी आयोजित करने की योजना है। अमृत महोत्सव के अंतर्गत भी सभी जिलों में चित्रकला प्रदर्शनी व अन्य सांस्कृतिक आयोजन करने का निर्देश दिया गया है। वही इस संबंध में अधिकारियों ने कहा है कि अगर सब कुछ ठीक रहा तो बिहार की राजधानी पटना में साहित्य उत्सव, फिल्म महोत्सव, काफी विद फिल्म और फिल्म संवाद जैसे आयोजन किया जाएगा।

 

input:daily bihar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.