बिहार में सरकारी नौकरी के लिए मारामारी, एक सीट के लिए 700 लोगों ने दिया है आवेदन

बिहार लोक सेवा आयोग की 67वीं संयुक्त सिविल सेवा प्रतियोगिता परीक्षा के लिए छात्रों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा होने की उम्मीद है। अभी तक पौने पांच लाख छात्रों ने आवेदन कर दिया है। उम्मीद है आवेदन की अंतिम तिथि तक यह आकड़ा पांच लाख से पार कर जाएगा। ऐसी स्थिति में एक सीट के लिए कम से कम 710 छात्रों के बीच प्रतिस्पर्धा होगी। छात्रों की बढ़ती बेरोजगारी और सरकारी नौकरी की ललक की वजह से आवेदन की संख्या बढ़ रही है।

 

तैयारी के लिए सवा दो महीने का है समय : इस बार बीपीएससी ने 726 पदों के लिए विज्ञापन निकाला है। आवेदन की अंतिम तिथि 19 नवम्बर है। इसकी परीक्षा 23 जनवरी को संभावित है। छात्रों के पास तैयारी के लिए सवा दो महीने का समय है। आयोग के अनुसार लगभग एक हजार के करीब परीक्षा केंद्र होने की उम्मीद है।

 

इंजीनियरिंग के छात्र भी ज्यादा कर रहे आवेदन : बीपीएससी में जिस तरह का ट्रेंड बदला है, इसमें इंजीनियरिंग के छात्र भी अधिक आवेदन करने लगे हैं। इसकी वजह से संख्या में और बढ़ोतरी हो रही है। नया सिलेबस इंजीनियरिंग छात्रों अनुकूल माना जाता है। इसके अलावा इंजीनियरिंग के छात्र भूगोल व अन्य विषयों को लेकर भी तैयारी करते हैं। परीक्षा विशेषज्ञ डॉ. एम रहमान ने बताया कि छात्रों के पास फिलहाला बेहतर मौका है। सीटें भी बढ़ गई हैं। अभी तैयारी में जुट जाना चाहिए। अपने पंसद के विषयों और टॉपिक पर विशेष ध्यान देना चाहिए। ग्रुप डिस्कशन का भी सहारा लेना चाहिए। इससे विषयों पर पकड़ मजबूत होगी। अच्छे लेखकों की किताबों का भी अध्ययन करना चाहिए। प्रतियोगिता भी बड़ी होगी। छात्रों के पास अभी पांच दिन आवेदन का मौका मिल रहा है। इसका फायदा छात्रों को उठाना चाहिए।

पीटी दो घंटे की : पीटी परीक्षा दो घंटे की होगी। इसमें 150 अंकों के प्रश्न पूछे जाएंगे। दो महीने तैयारी के लिए बचे हैं, इसके लिए रूटीन बनाकर मेहनत करनी होगी। बीपीएससी के संयुक्त सचिव सह परीक्षा नियंत्रक अमरेन्द्र कुमार ने बताया कि परीक्षा 23 जनवरी को होनी है। उम्मीद है कि आवेदन करने वाले छात्रों का आंकड़ा पांच लाख पार कर जाएगा। उसी हिसाब से तैयारी की जा रही है।

 

input:daily bihar

 

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.