KK पाठक को मिला शराबबंदी कानून को लागू करने की जिम्मेवारी, नीतीश के महामंथन का नतीजा

Big Breaking: शराब माफियाओं की अब खैर नहीं, सीएम नीतीश ने इस कड़क IAS अधिकारी को दी अहम जिम्मेवारी, अभी-अभी, अधिसूचना जारी

 

 

 

पटना : बिहार में शराबबंदी को सफल बनाने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बड़ा फैसला लिया है. कड़क आईएएस अधिकारी केके पाठक को बड़ी जिम्मेदारी दे दी है. केन्द्रीय प्रतिनियुक्ति से आने के बाद पदस्थापना के इंतजार में बैठे इस अधिकारी को मद्य निषेध विभाग के अपर मुख्य सचिव बना दिया गया है. जिसकी अधिसूचना जारी कर दी गयी है.

 

 

 

सामान्य प्रशासन विभाग ने इसकी अधिसूचना जारी कर दी है. पहले मद्य निषेध विभाग के अपर मुख्य सचिव का अतिरिक्त प्रभार चैतन्य प्रसाद के पास था. जो अभी गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव हैं. अधिसूचना जारी होते ही अब चैतन्य प्रसाद मद्य निषेध विभाग के अपर मुख्य सचिव के अतिरिक्त प्रभार से मुक्त कर दिए गए.

 

केके पाठक को मद्य निषेध विभाग में अपर मुख्य सचिव पद की जिम्मेवारी देने के पीछे माना जा रहा है कि नीतीश कुमार शराबबंदी मामले में किसी प्रकार की और किरकिरी नहीं होने देना चाहते हैं. इसको लेकर इस कड़क आईएएस अधिकारी को जिम्मेवारी दी गयी है. जो अपने कार्यशैली और कड़क अंदाज के लिए जाने जाते हैं. इसके पहले भी केके पाठक उत्पाद आयुक्त भी रह चुके हैं.

 

बता दें कि 16 सितंबर को ही शराबबंदी को लेकर सीएम नीतीश ने बड़ी समीक्षा बैठक की थी. जिसमें मंत्रिमंडल के सभी मंत्री, डीजीपी, गृह सचिव समेत सभी जिलों के डीएम और एसपी शामिल हुए थे. मुख्यमंत्री ने बारी-बारी से फीडबैक लिया, और व्यवस्था को दुरूस्त करने के लिए कई दिशा निर्देश दिए है.

 

 

 

Input: Daily Bihar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.