मध्यप्रदेश के इस शख्स ने कायम की मोहब्बत की नई मिसाल, पत्नी को तोहफे में दिया ताजमहल जैसा घर

प्यार हो या शादीशुदा जीवन, एक दूसरे को उपहार देना आम बात है लेकिन मध्यप्रदेश के एक शख्स ने अपनी पत्नी को ऐसा गिफ्ट दिया है कि उनका ये गिफ्ट सोशल मीडिया पर छा गया.

पत्नी के लिए बना दिया ताजमहल जैसा घर

 

अपनी पत्नी को ये कमाल का उपहार आनंद प्रकाश चौकसे ने  दिया है. मध्य प्रदेश के रहने वाले शिक्षाविद आनंद प्रकाश चौकसे ने अपनी पत्नी को तोहफे में ताजमहल गिफ्ट कर दिया है. जी नहीं, इन्होंने अपनी पत्नी को आगरा का असली ताजमहल गिफ्ट नहीं किया बल्कि ताजमहल जैसा घर गिफ्ट किया है.

 

मध्य प्रदेश के ऐतिहासिक शहर बुरहानपुर के आनंद प्रकाश बहुत लंबे समय से ऐसा घर बनाने की सोच रहे थे. अब जा कर उन्होंने अपना सपना पूरा कर लिया है. उन्होंने ये 4 बेडरूम, एक किचन, एक लाइब्रेरी और एक मेडिटेशन रूम वाला ये घर अपनी पत्नी मंजूषा के को तोहफे में दिया है. लगभग 3 साल में तैयार हुए इस घर को बनवाने के लिए आनंद ने कई राज्यों के कारीगरों से मदद ली है.

 

आनंद अपना घर ताजमहल जैसा बनाना चाहते थे, जब इन्होंने ऐसा घर बनाने का फैसला किया तो सबसे पहले अपनी पत्नी के साथ असली वाले ताजमहल गए. उन्होंने वहां जाकर ताजमहल की बनावट को बहुत ही गहराई से समझा और वापस लौटने के बाद उन्होंने इस घर को बनाने की जिम्मेदारी कंसलटिंग इंजीनियर प्रवीण चौकसे को दे दी.

 

प्रवीण चौकसे नामक इंजीनियर को सौंप ये कठिन काम

 

प्रवीण चौकसे के लिए ये जिम्मेदारी आसान नहीं थी. उनका कहना है कि ताजमहल जैसा मकान बनाने आसान नहीं था. आनंद चौकसे और उनकी पत्नी मंजूषा चौकसे के आगरा जा कर ताज महल देखने के बाद इंजीनियर प्रवीण चौकसे भी आगरा पहुंचे और ताजमहल के क्षेत्रफल की बारिकियों को देखा.

 

देश भर के कारीगरों की ली गई मदद

 

प्रवीण चौकसे के अनुसार इस ताजमहलनुमा घर का क्षेत्रफल 90X90 और बेसिक स्ट्रक्चर 60X60 का है तथा इसकी डोम 29 फीट ऊंची है. ये घर इतना खास है कि इसकी नक्काशी करने के लिए बंगाल और इंदौर से कारीगर बुलाए गए थे. वहीं घर की फ्लोरिंग का जिम्मा राजस्थान के मकराना के कारीगरों को दिया गया था. घर सूरत और मुंबई के कारीगरों ने में फर्नीचर तैयार किया और आगरा के उत्कृष्ट कारीगरों की सहायता से इस घर को बनाया गया.

 

पर्यटन का केंद्र बना ये घर

 

अल्ट्रा टेक ने इस घर को इंडियन कंस्ट्रक्टिंग अल्ट्राटेक आउट स्टैंडिंग स्ट्रक्चर ऑफ एमपी का अवार्ड भी दिया है. आनंद चौकसे का ये ताजमहल अब बुरहानपुर आने वाले पर्यटक के लिए आकर्षण का केंद्र बन गया है. पर्यटक विशेष रूप से इस घर को देखने आते हैं. इसे देखने वाले हर शख्स के मुंह से यही निकलता है ‘वाह क्या ताज है.’

 

input:indiatimes

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.