गोपालगंज में इस बार खाने-पीने के लिए नहीं, कुर्सी पर बैठने को लेकर हुआ विवाद, 4 लोगों का मुंह-कान फोड़ा

जिले के जादोपुर थाना क्षेत्र के मशानथाना गांव में रविवार की रात आई बारात में कुर्सी पर बैठने के विवाद को लेकर जमकर कुर्सियां चलीं. इसके पहले खाने पीने को लेकर मारपीट की खबरें आती रही हैं लेकिन रविवार की रात अब बैठने को लेकर विवाद हो गया. घटना में एक ही परिवार के चार दलित युवक घायल हो गए. किसी का मुंह पर चोट लगी तो किसी के सिर पर. घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया. पीड़ित युवकों ने एससी-एसटी थाने में घटना की शिकायत दर्ज कराई है. पुलिस ने पीड़ितों की शिकायत पर मामले की जांच पड़ताल कर कार्रवाई शुरू कर दी है.

 

बताया जाता है कि मशानथाना गांव में रविवार की रात में बारात आई थी. उत्क्रमित मध्य विद्यालय बालक में बारातियों के लिए इंतजाम किया गया था. जिसमें मशानथाना गांव के कन्हैया राम के पुत्र सेदश राम, कुंवर राम का पुत्र पप्पू राम, हरकेश राम का पुत्र रंजीत राम और अलीराम का पुत्र अजीत राम भी बारात देखने पहुंचा था. घायलों के अनुसार सभी युवक कुर्सी पर बैठ कर कार्यक्रम देख रहे थे. इस दौरान गांव के उपेंद्र सिंह, सीता राम, मुन्ना सिंह, मनचेत सिंह, रितेश सिंह, संदीप सिंह समेत दस-15 लोग पहुंचे और कुर्सी पर बैठने को लेकर मारपीट करने लगे

 

 

 

 

 

 

.

 

मामले की हो रही जांच

मारपीट के दौरान चार युवक घायल हो गए. घटना के बाद बारात में अफरातफरी मच गई. घटना की सूचना स्थानीय पुलिस को दी गई. उधर, सोमवार की सुबह में इलाज कराने के बाद घायलों ने एससी-एसटी थाने में पहुंचकर मामले की लिखित शिकायत की. पीड़ितों ने कहा कि घटना में प्राथमिकी दर्ज कराने पर जान से मारने की धमकी आरोपितों की ओर से दी गई है. वहीं एससी-एसटी के थानाध्यक्ष राम बाबू राम ने कहा कि मामले में जांच पड़ताल करने के बाद प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है.

 

 

 

 

 

 

 

Input: DTW24

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.