इंजीनियर पति ने जो कसम खाया वह सच कर दिखाया, 21 साल की उम्र में पत्नी आयशा को बनाया मुखिया

PATNA ; 21 साल में मुखिया बनीं आयशा खातून, फतेहपुर पंचायत से दर्ज की जीत : बिहार पंचायत चुनाव के आठवें चरण की मतगणना के लगातार परिणाम सामने आ रहे हैं. भागलपुर जिले से राज्य की एक और सबसे कम उम्र की मुखिया के रूप में 21 साल की आयशा खातून ने जीत दर्ज की है. आयशा सबौर प्रखंड के फतेहपुर पंचायत से मुखिया चुनी गई है. आयाशा की उम्र महज 21 साल 2 महीने है. जीत के बाद जहां भागलपुर के फतेहपुर पंचायत में जश्न का माहौल है और आतिशबाजी कर जश्न मनाया जा रहा है. वहीं घर पर बधाई देने के लिए आम लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई है. मुखिया का कहना है कि पंचायत के विकास के लिए वह काम करेंगी.

 

 

 

“गांव की सेवा का मौका मिला है. फतेहपुर पंचायत की पूरी जनता का मैं दिल से शुक्रिया अदा करती हूं. इंदिरा आवास के क्षेत्र,राशन कार्ड, शिक्षा के क्षेत्र में काम करूंगी. मैंने बीए तक की पढ़ाई की है. जनता की उम्मीदों पर खरी उतरनी की पूरी कोशिश करूंगी.”- आयशा खातुन, मुखिया विजेता

 

 

 

वहीं मुखिया के पति इंजीनियर ताज का का कहना है कि फतेहपुर पंचायत की जनता ने भरोसा जताया है,इसके लिए मैं सबको धन्यवाद देता हूं.इसके पहले भी मैं एक बार चुनाव लड़ा था,मेरी मां चुनाव लड़ी थी. यह सीट महिला के लिए आरक्षित है, इसलिए मैंने अपनी पत्नी को यहां से चुनाव लड़ाया. “जनता को जीत दिलाने के लिए धन्यवाद देता हूं. इससे पहले मेरी मां भी चुनाव लड़ चुकी है. इस बार जनता ने मेरी पत्नी आयशा पर भरोसा जताया है. पंचायत के हर काम को पूरी ईमानदारी के साथ किया जाएगा और विकास की राह में पंचायत को आगे बढ़ाने की कोशिश जारी रहेगी.”- इंजीनियर ताज, आयशा के पति

 

 

 

Input: Daily Bihar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.