लड़की के लिए नई स्कूटी बनी मुसीबत, नंबर प्लेट पर S.E.X लिखे होने के कारण घर से निकलना हुआ मुश्किल

लोग अपने घर में नई गाड़ी अपनी सुविधा के लिए लाते हैं. जिनके घर में कोई नई बाइक या कार आए वे कुछ दिनों तक तो बार बार अपनी गाड़ी चलाना चाहते हैं, लेकिन दिल्ली के एक परिवार के लिए उनकी नई गाड़ी ही मुसीबत बन गई. वह अपनी नई स्कूटी को घर से बाहर निकालना ही नहीं चाहते. दरअसल, दिल्ली के एक परिवार को अपनी नई गाड़ी के नंबर के कारण शर्मिंदगी झेलनी पड़ रही है. दिल्ली की एक छात्रा ने अपने कॉलेज आने जाने के लिए नई स्कूटी ली लेकिन अब वो उसी नई स्कूटी की वजह से घर से बाहर नहीं निकल पा रही है.

 

पिता ने जमापूंजी से खरीदी थी स्कूटी

 

आजतक की एक रिपोर्ट के अनुसार ये लड़की दिल्ली के एक मध्यवर्गीय परिवार से संबंध रखती है. इस लड़की के पिता ने पिछले महीने ही इसके जन्मदिन पर इसे बर्थडे गिफ्ट के रूप में ये स्कूटी गिफ्ट करने की बात कही थी. बेटी की डिमांड पर पिता ने अपनी जमा पूंजी से उसके लिए एक स्कूटी ऑर्डर कर दी.

 

इस लड़की को ये स्कूटी कॉलेज जाने के लिए चाहिए थी. परिवार को नई स्कूटी का इंतजार था, लेकिन किसे पता था कि ये नई स्कूटी एक नई मुसीबत साथ लेकर आएगी. लड़की को जो नई स्कूटी मिली उसका नंबर ही उसके लिए मुसीबत बन गया. लड़की को जो स्कूटी का नंबर मिला उसके बीच के अंको में अल्फाबेट्स जोड़ने पर S.E.X लिखा हुआ दिखता है.

 

स्कूटी का नंबर बन गया मुसीबत

 

जब लड़की के भाई ने गाड़ी पर ये नंबर प्लेट लगाई तब उसे भी ये अंदाज नहीं था कि ये तीन शब्द ही उनके परिवार के लिए बड़ी मुसीबत बन जाएंगे. गाड़ी की नंबर प्लेट पर लिखे S.E.X. अल्फाबेट्स कई लोगों को हजम नहीं हुए. लोग इन अक्षरों में भी फूहड़ता खोजने लगे और इस स्कूटी पर चलने वाले लड़की के भाई पर फब्तियां कसने लगे.

 

ये सारी बात जब लड़की के भाई ने घर आकर बताई तो लड़की के दिल में डर बैठ गया. ये परिवार जब अपनी स्कूटी के इस नंबर को बदलवाने दिल्ली के आरटीओ पहुंचा तो यहां के एक अधिकारी ने बताया कि ऐसा नंबर सिर्फ उन्हें ही नहीं मिला बल्कि दस हजार गाड़ियों को इस सीरीज के नंबर अलॉट हुए हैं.

 

नहीं बदला जा सकता अब नंबर

 

अधिकारी ने तो अपनी बात कह दी लेकिन लड़की के लिए ये छोटी सी बात अब बड़ी मुसीबत बन गई है. उसका अब घर से निकलना भी मुश्किल हो गया है. लड़की अपनी गाड़ी का नंबर बदलवाना चाहती है लेकिन ऐसा अब संभव नहीं है. कमिश्नर ऑफ दिल्ली ट्रांसपोर्ट के.के दहिया ने आजतक से बात करते हुए इस बारे में कहा कि ‘एक बार गाड़ी का नंबर अलॉट होने के बाद उसे बदलवाने का अब तक कोई प्रावधान नहीं है.

 

input:indiatimes

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.