नीतीश से हाथ मिलाएंगे तेजस्वी यादव, बोले- देशहित में कुछ भी करने को तैयार हैं

नीतीश से हाथ मिलाएंगे तेजस्वी यादव, बोले- देशहित में ऐसा करेंगे : पटना : नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि वह देशहित में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से हाथ मिला सकते हैं। इससे पहले नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी ने नीतीश कुमार से कहा कि जातीय जनगणना को लेकर हम साथ हों। जातिगत जनगणना देश हित में है।

 

 

 

 

 

तेजस्वी ने कहा कि हम मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर राज्य सरकार के खर्चे पर खुद जातीय जनगणना कराने की मांग करेंगे। बिहार विधानसभा के शीतकालीन सत्र के बाद तेजस्वी ने कहा कि विधान परिषद और विधानसभा में जातीय जनगणना का प्रस्ताव लाया गया था। उसे सर्वसम्मति से पास भी किया गया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सामने प्रस्ताव रखा कि जातीय जनगणना के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलकर अपनी बात रखेंगे।

 

 

 

 

 

तेजस्वी ने कहा कि हम और मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात भी की। इन सबके बीच मंगलवार को केंद्रीय राज्य मंत्री नित्यानंद ने संसद में कहा कि जातीय जनगणना नहीं होगी। तेजस्वी ने कहा कि नीतीश ने उप चुनाव के बाद इस मुद्दे पर पहल की बात कही थी, लेकिन अब तक उनकी ओर से कोई पहल नहीं की गई है।

 

तेजस्वी बोले-मेरा और मुख्यमंत्री का घर तो बगल में है

जातीय जनगणना के मुद्दे पर पत्र लिखे जाने के मामले पर तेजस्वी ने आगे कहा कि मेरा और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी का घर तो बगल में ही है। हम तो मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर ट्विटर पर भी टैग करते रहते हैं। अब मुख्यमंत्री जी को पत्र नहीं मिल रहा है तो उन्हें थोड़ा अपडेट होना होगा।

 

इधर, जातीय जनगणना के मुद्दे पर राजद नेता एवं राज्यसभा सांसद मनोज झा ने नीतीश सरकार पर निशाना साधा। मनोज झा ने मांग की है कि साल भर के अंदर जातीय जनगणना हो। उन्होंने कहा कि राजद लगातार इस मुद्दे को उठा रहा है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव द्वारा मजबूर किए जाने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को इस मुद्दे पर सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडलके साथ प्रधानमंत्री से मिलने आना पड़ा था। मनोज ने बताया कि तब नीतीश ने कहा था कि प्रधानमंत्री ने जातीय जनगणना पर सकारात्मक पहल दिखाई है, लेकिन बात हो गई ढाक के तीन पात वाली।

 

मनोज झा ने कहा कि सरकार यह कह रही कि जातीय जनगणना संभव नहीं है तो मैं बता दूं इस तरह से सरकार नहीं चल सकती है। उन्होंने कहा कि राजद ने राज्यसभा में सात बार इस मुद्दे को उठाया है। हम अकेले नहीं हैं और भी दल हैं, जो चाहते हैं कि जातीय जनगणना हो।

 

 

 

 

 

Input: Daily Bihar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.