शराब के नशे में धूत्त बिहार के ASP साब ने खोया आपा, IG के भाई को जमकर पीटा, पैर तोड़ दिया

वाह रे शराबबंदी: नशे में धुत ASP ने IG के भाई का तोड़ा पैर, गाली-गलौज कर सरेआम पीटा : बिहार में शराबबंदी कानून को अमलीय जामा पहनाने को लेकर यहां के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा समीक्षा बैठक की जाती है. नशामुक्ति दिवस के दिन राज्यभर के वर्दीवालों को शराब न पीने की कसम खिलाई जाती है. कानून को कानून साबित करने के लिए शादी ब्याह में महिलाओं के कमरे में पुलिसवाले शराब ढूढ़ने निकलते हैं. एक बोतल के साथ 6-6 इंजीनियर को गिरफ्तार किया जाता है. ये हाल के घटनाक्रम हैं.

 

 

 

 

शराब के मामले में किसी को नहीं बख्शने की कसम खा चुकी बिहार पुलिस ऐसा कर के खूब अपना पीठ थपथपाई. लेकिन इसी बीच एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसे सुनकर आप हैरान रह जायेंगे. इस खबर को ट्रेंडिंग बिहार की टीम सतह पर लेकर आई है. दरअसल पुलिस विभाग में तैनात एक IG के भाई ने ASP के ऊपर शराब के नशे में धुत होकर मारपीट करने और पैर तोड़ने का आरोप लगाया है, जो बिहार के एक अन्य जिला के DM और SP के रिश्तेदार भी हैं. इस मामले में संज्ञान लेते हुए कोर्ट ने आरोपी एएसपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है.

 

 

 

 

मामला बिहार के पूर्वी चंपारण जिले के छतौनी थाना क्षेत्र का है. यहां छतौनी डायट भवन स्थित मतगणना केंद्र पर शराब के नशे में एएसपी द्वारा आईजी के भाई और मुखिया पति अवधेश सिंह के साथ मारपीट की गई और उनका दाहिना पैर तोड़ दिया गया. यह आरोप पीड़ित अवधेश सिंह ने एएसपी (अभियान) पर लगाया है. पुलिस की पिटाई से बुरी तरह जख्मी अवधेश सिंह का इलाज इलाके के एक निजी नर्सिंग होम में कराया जा रहा है. इस घटना को लेकर पीड़ित ने कोर्ट में शिकायत की है. जिसपर संज्ञान लेते हुए न्यायालय ने आरोपी पुलिस अधिकारी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का का आदेश दिया है.

 

ट्रेंडिंग बिहार को मिली जानकारी के अनुसार पीड़ित अवधेश सिंह मोतिहारी के कोटवा थाना क्षेत्र अंतगर्त जसौली जमुनिया गांव के रहने वाले हैं. इनकी पत्नी मीरा देवी जसौली पंचायत की मुखिया हैं. घटना के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए पीड़ित अवधेश सिंह ने बताया कि पिछले शुक्रवार को नशामुक्ति दिवस के दिन उनके साथ यह घटना हुई थी. पंचायत चुनाव के आठवें चरण में उनके यहां चुनाव था. 26 नवंबर को इस चरण का रिजल्ट आने वाला था. वह छतौनी डायट भवन स्थित मतगणना केंद्र पर इलेक्शन एजेंट और काउंटिंग एजेंट के रूप में तैनात थे. वह वेटिंग हॉल के पास प्रतीक्षा कर रहे थे. इस दौरान मोतिहारी के एएसपी (अभियान) ओमप्रकाश सिंह के साथ उनकी बकझक हो गई.

 

 

 

Input: daily Bihar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.