Mi-17V5 Helicopter: CDS बिपिन रावत को ले जा रहे इस हेलीकॉप्टर की क्या है खासियत, PM मोदी करते हैं इसमें सफर

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत (CDS Bipin Rawat) को ले जा रहा सेना (Army) का एक हेलीकॉप्टर (Helicopter) बुधवार को तमिलनाडु के कुन्नूर (Kunnur) में दुर्घटनाग्रस्त (Crash) हो गया। बिपिन रावत के साथ उनकी पत्नी और आर्मी के कई सीनियर अफसर भी हेलीकॉप्टर में सवार थे। जो हेलीकॉप्टर क्रैश हुआ है, वह भारतीय वायु सेना का MI-17V5 हेलीकॉप्टर था। दुर्घटना के कारणों का पता लगाने के लिए जांच के आदेश दे दिए हैं। आइए जानते हैं इस MI-17V5 हेलीकॉप्टर की क्या खासियत है-

 

MI-17V5 एक रूसी ट्रांसपोर्ट हेलीकॉप्टर है। इसका इस्तेमाल सैनिकों को एक जगह से दूसरे जगह ले जाने, हथियार को ट्रांसपोर्ट करने, आग लगने के मामले में सहायता पहुंचाने और गश्त और रेसेक्यू ऑपरेशन के किया जाता है। यह एक ताकतवर हेलीकॉप्टर है, जिसकी गिनती दुनिया के सबसे आधुनिक मिलिट्री ट्रांसपोर्ट हेलीकॉप्टरों में होती है।

भारत सरकार ने 2008 में रूस की एक रक्षा कंपनी से 80 Mi-17V5 हेलीकॉप्टरों को खरीदने की डील की थी, जो 2013 में पूरी हुई। बाद में भारतीय एयर फोर्स ने भी 71 और Mi-17V5 हेलीकॉप्टरों के लिए ऑर्डर दिए, जिनकी डिलीवरी हो चुकी है। भारत में इस सीरीज के करीब 150 हेलीकॉप्टर हैं।

इस हेलीकॉप्टर की सबसे बड़ी खासियत यह है कि ये कठिन से कठिन परिस्थिति में भी उड़ान भरने में सक्षम हैं। यह बर्फीली जगहों, रेगिस्तान और ट्रापिकल जगहों पर उड़ान भर सकता है। हेलीकॉप्टर की अधिकतम रफ्तार 250 किमी/घंटा है। यह 6,000 मीटर की अधिकतम ऊंचाई तक उड़ान भर सकता है और एक बार ईंधन भरने के बाद 580 किलोमीटर तक जा सकता है।

 

ये हेलीकॉप्टर करीब 13,000 किलो का वजन लेकर उड़ सकता है। साथ ही इसमें 36 लोग एक साथ बैठकर यात्रा भी कर सकते हैं।

 

MI-17V5 हेलीकॉप्टर की गिनती, देश के सबसे सुरक्षित हेलीकॉप्टरों में होती है। इसके पीछे कारण यह है कि ये हेलीकॉप्टर मिसाइल और रॉकेट से भी लैस होते हैं। MI-17V5 हेलीकॉप्टर में Shturm-V मिसाइल, S-8 रॉकेट, एक 23mm की मशीन गन और AKM पनडुब्बी गन लगे होते हैं। ये हेलीकॉप्टर पर सवार सैन्यकर्मियों को उड़ान भरते हुए दुश्मन के काफिलों, बख्तरबंद वाहनों, जमीन पर स्थित टारगेट और अन्य लक्ष्यों को निशाना बनाने की इजाजत देता है।

 

MI-17V5 हेलीकॉप्टर में आठ फायरिंग पोस्ट बनाए गए हैं। इस हेलीकॉप्टर के महत्वपूर्ण हिस्सों को बख्तरबंद प्लेटों से सुरक्षित किया गया है। साथ ही विस्फोट से बचाने के लिए इसके फ्यूल टैंक फोम पॉलीयुरेथेन से भरे होते हैं।

 

बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी सहित देश की महत्वपूर्ण हस्तियां के उड़ान में इस हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल होता रहा हैं। पीएम मोदी ने हाल ही में लद्दाख और केदारनाथ तक की यात्रा इसी हेलीकॉप्टर से की थी।

 

Input: Money Control

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.