शादी समारोह में बवाल, एक शादी समारोह में युवक ने नाबालिग का जबरन भरा मांग, कहा- मुझसे शादी करो

PATNA- 10वीं की छात्रा की मांग में जबरन भरा सिंदूर, अब फोटो वायरल करने की धमकी देकर बोल रहा- शादी करो, जमुई की घटना, एक शादी समारोह में युवक ने नाबालिग का जबरन भरा था मांग, पढ़ाई के लिए जाने के दौरान युवक करता था छेड़खानी : जमुई में एक मनचले ने नाबालिग की मांग में जबरन सिंदूर भर दिया। इस दौरान उसने कुछ फोटो भी ली है, जिसे वायरल करने की धमकी दे शादी का दबाव बना रहा है। रिश्ते में युवक नाबालिग का दूर का मामा बताया जा रहा है।

 

 

 

 

 

 

दरअसल मामला लक्ष्मीपुर थाना क्षेत्र के एक गांव का है। मनचले युवक से परेशान नाबालिग अपने माता-पिता सहित अन्य स्वजन के साथ शनिवार को महिला थाना पहुंच गई। उसके बाद नाबालिग के पिता द्वारा महिला थानाध्यक्ष मधु मालती को आवेदन देकर युवक पर कार्रवाई करने की मांग की है। साथ ही जबरन नाबालिग का फोटो खींचने में सहयोग करने को लेकर उनके पिता और मां व बहन पर भी आरोप लगाते हुए न्याय की गुहार लगाई है। उसके बाद नाबालिग के साथ स्वजन एसडीपीओ कार्यालय पहुंचे जहां डाक्टर राकेश कुमार से मुलाकात कर घटना की विस्तारपूर्वक जानकारी दी और ऐसी गंदी हरकत करने को लेकर उक्त युवक को कार्रवाई की मांग की।

 

 

 

 

 

एक शादी समारोह में युवक ने नाबालिग का जबरन भरा था मांग : दरअसल 29 नवंबर को गांव में ही एक शादी समारोह था। जिसमें नाबालिग गई थी। इसी दौरान युवक ने नाबालिग को पकड़ लिया और जबरन उसकी मांग में सिंदूर डाल दिया। इतना ही नहीं युवक ने फोटो भी खींच ली और शादी करने का दबाव बनाते हुए फोटो वायरल करने की धमकी भी देने लगा।

 

पढ़ाई के लिए जाने के दौरान युवक करता था छेड़खानी : नाबालिग के पिता ने बताया कि उनकी पुत्री दशम वर्ग में पढ़ाई कर रही है। जब वो पढ़ने जाती है तो युवक उसके साथ कई महीनों से छेड़खानी भी कर रहा है। इसकी शिकायत जब उसके स्वजन से की जाती है तो उनके परिवार द्वारा भी सहयोग किया जाता है। वे घर पर नहीं रहते हैं जिस वजह से उनकी नाबालिग पुत्री के साथ हमेशा छेड़खानी की जाती है।

 

मामले की जानकारी हुई है। इसकी जांच कराई जाएगी। दोषी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी। -डा राकेश कुमार, एसडीपीओ जमुई

 

 

 

 

 

Input: Daily Bihar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.