खाकपति बना करोड़पति, भारत का यह कंपनी हुआ मालामाल, 35 पैसे का शेयर हो गया 200 रुपये का

35 पैसे का शेयर हो गया 200 रुपये का, तीन साल में 1 लाख बन गए 5 करोड़ से भी ज्यादा : पिछले दो सालों में बड़ी संख्या में शेयरों ने अपने शेयरधारकों को मल्टीबैगर रिटर्न दिया है. फ्लोमिक ग्लोबल लॉजिस्टिक्स (Flomic Global Logistics) शेयर भारत में ऐसे मल्टीबैगर शेयरों में से एक हैं. यह मल्टीबैगर पेनी स्टॉक्स की सूची में शामिल हैं. यह स्टॉक 0.35 पैसे प्रति शेयर के स्तर से बढ़कर 198.45 रुपये प्रति शेयर हो गया है. लगभग तीन साल के समय में यह लगभग 567 गुना बढ़ गया है.

इस मल्टीबैगर पेनी स्टॉक (multibagger penny stock) के शेयर की प्राइस हिस्ट्री (Price History) पर नजर डालें तो पता चलता है कि फ्लोमिक ग्लोबल लॉजिस्टिक्स शेयर की कीमतें (Flomic Global Logistics share price) पिछले छह महीनों में ₹10.37 से बढ़कर ₹198.45 के स्तर पर पहुंच गई हैं. इस अवधि के दौरान ये लगभग 1,913 प्रतिशत तक बढ़ गई हैं. साल-दर-साल मतलब 2021 में, यह पैनी स्टॉक 1.95 रुपये के स्तर काफी ऊपर चला गया है.

लाख के 5.67 करोड़

अगर किसी निवेशक ने तीन साल पहले इस पेनी स्टॉक में 1 लाख रुपये का निवेश किया होता, तो उसका 1 लाख आज 5.67 करोड़ रुपयों में तब्दील हो चुका होता.

 

इस स्टॉक ने 28 अक्टूबर 2021 को ₹216 के 52-सप्ताह के उच्च स्तर बनाया, जबकि 8 दिसंबर 2020 को यह अपने 52-सप्ताह के निचले स्तर (1.53 रुपये) पर था. सितंबर तिमाही में, फर्म ने शुद्ध लाभ में 17.65% की गिरावट दर्ज की.

 

ये भी पढ़ें – 16-17 दिसंबर को बैंकों में रहेगी हड़ताल, जानिए आखिर ऐसे क्यों कर रहे हैं बैंक?

 

फ्लोमिक ग्लोबल लॉजिस्टिक्स के बारे में..

फ्लोमिक ग्लोबल लॉजिस्टिक्स लिमिटेड (Flomic Global Logistics Limited) एक लॉजिस्टिक कंपनी के रूप में काम करती है. कंपनी दुनियाभर में अपने ग्राहकों को वेयरहाउसिंग, वितरण (distribution), माल अग्रेषण (freight forwarding), सीमा शुल्क ब्रोकिंग (customs broking), कार्गो (cargo), कॉन्सॉलिडेशन (consolidation), मल्टीमॉडल ट्रांसपोर्टेशन और कंट्री ट्रेड सर्विस प्रदान करती है.

 

क्या होते हैं मल्टीबैगर स्टॉक?

निवेशकों की निवेश की गई रकम को कई गुणा बढ़ाने वाले स्टॉक को मल्टीबैगर कहा जाता है. आप कंपनी के प्रदर्शन को देखकर आसानी से मल्टीबैगर शेयरों की पहचान कर सकते हैं. मल्टीबैगर शेयरों में प्रति शेयर आय बहुत ज्यादा (high earnings per share) होती है, जिससे निवेश राशि पर आपकी लाभांश आय में वृद्धि होती है.

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.