12 साल पहले मरा समझकर कर दिया था जिसका श्राद्ध, वह जिंदा है पाकिस्तान की जेल में बंद, जानिए क्या है मामला

 

जिस बेटे को 12 साल पहले मरा हुआ मान लिया था वो जिंदा निकला. जिसको मरा मान कर परिवार वालों ने उसका अंतिम संस्कार कर दिया था वो सीमा के उस पार पाकिस्तान में था. जिस युवक को मरा जान कर उसकी पत्नी ने दूसरी शादी कर ली और उसके बच्चों को लेकर चली गई वो पाकिस्तान के जेल में बंद है. युवक के जिंदा होने और पाकिस्तान में होने की खबर सामने आने के बाद मां अब बेटे को देखना चाहती है. उसकी इच्छा है कि मरने से पहले एकबार उसका बेटा उसके सामने आ जाए जिसके बाद वह उसे सीने से लगा सके.

विदेश मंत्रालय की चिट्ठी से जबसे पता चला है कि उसका बेटा जिंदा हैं और पाकिस्तान की जेल में बंद है तो मां के जेहन में एकबार फिर उसके बेटे छवि की छवि जिंदा हो गई. और अब उसके लौटने की उम्मीद बन गई.

 

विदेश विभाग से मिली खबर

मामला बक्सर जिले का का. जहां मुफस्सिल थाने में इसकी पहचान के लिए कुछ कागजात आए थे. जिसे पहचान कराने के लिए पुलिस ने युवक के घरवालों को बुलाया तो उन्होंने उसकी तस्वीर देखते ही पहचान ली. परिजन भी अचंभित है कि जिसे सबने मरा हुआ मान लिया था वो जिंदा है लेकिन अफसोस वह पाकिस्तान में है

दलित बस्ती का रहने वाला है युवक

बताया जा रहा है कि पाकिस्तान के जेल में बद युवक का नाम छवि मुसहर है. वह बक्सर जिले के चौसा नगर पंचायत के खिलाफतपुर दलित बस्ती का रहने वाला है. 12 साल पहले उसके गायब होने से पहले वह यहां मां, भाई पत्नी, और अपने एक बच्चे के साथ रहता था. लेकिन एक दिन वह दलित बस्ती से अचानक गायब हो गया. इसके बाद परिवार के लोगों ने उसे खूब ढूंढा. लेकिन उसका अता-पता नहीं चला

20 साल की उम्र में गायब हुआ था

छवि मुसहर के भाई ने बताया तब उसकी उम्र 20 साल के आसपास होगी. उसके गायब होने की सूचना पुलिस को नहीं दी क्योंकि वह पहले भी इसी तरह चला जाता था फिर लौट कर आ जाता था. घरवालों ने बताया तब उसकी दिमागी स्थिति भी ठीक नहीं थी. जाने के लंबे दिनों के बाद भी जब वह घर वापस नहीं आया तो उसको मृत मान अंतिम संस्कार कर दिया गया. इधर दो साल तक वापस नहीं लौटने के बाद उसकी पत्नी ने भी दूसरी शादी कर ली और बच्चे के साथ चली गई. अब युवक की मां सरकार से गुहार लगा रही है कि किसी तरह उसके बेटे को वापस ला दें
मामले में ज्यादा जानकारी नहीं दे रही पुलिस

इस मामले में मुफस्सिल थानाध्यक्ष अमित कुमार ने बताया कि युवक के शिनाख्त के लिए संबंधित विभाग से कागजात आए थे. परिवार के लोगों ने उसकी पहचान की है. इसके बाद रिपोर्ट भेज दी गई है. युवक पाकिस्तान में कहां और कब से है इसकी जानकारी नहीं है. इस मामले में बांकी जानकारी संबंधित विभाग ही दे सकता है.

 

Input: DTW24 News

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.