विश्वकर्मा पूजा में नहीं पूरी हुई चार चक्का की मांग तो ससुराल में फांसी पर लटका दी गई शिवानी

बिहार में एक बार फिर से एक बेटी को दहेज के लिए मौत के घाट उतार दिया गया है. विश्वकर्मा पूजा में कार देने की डिमांड पूरी नहीं होने पर एक साल पहले ही ब्याही गई बेटी को उसके ससुराल के लोगों ने फांसा के फंदे से लटका दिया. दहेज के लिए विवाहिता की हत्या का ये मामला बिहार के नवादा जिला स्थित काशीचक थाना क्षेत्र के सुभानपुर गांव का है.

 

मृतका की पहचान सुभानपुर गांव के ही केशव कुमार के पत्नी 21 वर्षीय शिवानी कुमारी के रूप में हुई है. मृतका के परिजनों ने बताया कि लगभग सवा साल पहले शिवानी की शादी बड़े ही धूमधाम से कराई गई थी. सब कुछ ठीक चल रहा था और शादी के 1 साल के बाद ससुराल वालों की तरफ से लगातार दहेज की मांग की जा रही थी. इसी विश्वकर्मा पूजा के पहले उसके पति और ससुराल वालों ने चार चक्का गाड़ी की मांग कर रहे थे और उसको लेकर लगातार दबाव भी बना रहे थे. मायके वाले गाड़ी देने में असमर्थ थे और इसकी जानकारी वह उनको दे भी चुके थे मगर दहेजलोभियों ने महज एक गाड़ी के कारण उसकी निर्मम तरीके से हत्या कर दी.

 

परिजनों ने हत्या का आरोप ससुराल वालों पर लगाया है जिसमें सास, ससुर, देवर और उसके पति भी शामिल हैं. इस घटना के बाद ससुराल के सभी लोग घर बंद कर फरार हो गए हैं, वहीं पुलिस को ससुराल वालों ने आत्महत्या की जानकारी दी थी. पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा है. इस घटना की जानकारी परिजनों को काशीचक थाना के जरिए हुई. मृतक के पिता श्याम सिंह की लिखित शिकायत पर काशीचक थाने में दहेज की खातिर हत्या की प्राथमिकी दर्ज करा दी गयी है. इसमें पति केशव कुमार, देवर मुकुल कुमार, ससुर जयराम सिंह और सास चिंता देवी को नामजद किया गया है. इस घटना के बाद मायके वालों की उपस्थिति में शव का अंतिम संस्कार किया गया.

Input: DTW24 News

 

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.