मजेदार हुआ गोरखपुर का चुनाव, CM योगी के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे उनका पुराना चेला, कहा-जीतने नहीं दूंगा

गोरखपुरः योगी आदित्यनाथ के ‘पुराने शिष्य’ ने ही दी चुनौती, बोले- जीवन का सबसे मुश्किल चुनाव बना दूंगा : सियासत में कोई सगा और पराया नहीं होता है। जो आज दूसरे दल में हैं, कल वे अपने दल में आ जाते हैं। एक दल से दूसरे दल में आना-जाना लगा रहता है। सियासत ऐसा काम है, जिसमें धर्म-कर्म की बातें करने वाले से लेकर अपराध की दुनिया में कुख्यात हो चुके लोग भी नेता बन जाते हैं। अवसर और तात्कालिक लाभ के हिसाब से पाला बदलने की प्रवृत्ति सबसे ज्यादा राजनीति में ही देखी जाती है।

 

 

 

अभी हाल ही में भारतीय जनता पार्टी ने सीएम योगी आदित्यनाथ को उनके गृहनगर गोरखपुर से उम्मीदवार बनाने का फैसला किया। इस पर कभी उनके करीबी रहे और योगी आदित्यनाथ को अपना गुरु मानने वाले सुनील सिंह ने उनको चुनौती देते हुए सोशल मीडिया पर लिखा, “कहीं नोट कर लीजिए बाबा मैं सुनील सिंह आज घोषणा करता हूं कि इस बार का चुनाव आपके जीवन का सबसे मुश्किल चुनाव बना दूंगा। रिकार्ड मतों से हारने के लिए तैयार रहिए। गोरखपुर की धरती इस बार इंकलाब का नया इतिहास लिखेगी। घमंड हारेगा और संघर्ष की जीत होगी।”

 

 

 

उनका यह ट्वीट तब सामने आया जब योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर से खुद को टिकट दिए जाने पर पीएम मोदी, राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और उम्मीदवार चयन समिति के प्रति आभार जताया। सीएम योगी ने लिखा, “आगामी विधानसभा चुनाव में मुझे गोरखपुर (शहर) से भारतीय जनता पार्टी का उम्मीदवार बनाने के लिए आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी, माननीय अध्यक्ष श्री जेपी नड्डा जी एवं संसदीय बोर्ड का हार्दिक आभार।”

 

सुनील सिंह फिलहाल समाजवादी पार्टी में हैं और संत कबीर नगर से चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं। कभी वह सीएम योगी आदित्यनाथ के बेहद करीबी रहे और उनको अपना गुरु बताकर उनके शिष्य के रूप में रहा करते थे, लेकिन अब वे समाजवादी पार्टी का दामन थाम चुके हैं और एक बार सभा में योगी सरकार को “हत्यारी सरकार” भी कह चुके हैं।

 

 

Input: Daily Bihar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.