नेपाल सरकार का फैसला, खुलेगा भारत से सटा सभी बार्डर, बिहार के लोगों को अब नहीं होगी परेशानी

NEPAL : नेपाल सरकार ने बॉर्डर खोलने का लिया फैसला, सरकार से आदेश का इंतजार, तिथि तय नहीं : नेपाल सरकार ने लगभग 18 माह से बंद चल रही भारत से लगी अपनी सभी सीमाओं को खोलने का निर्णय लिया है। मंगलवार की देर शाम नेपाल के देउबा कैबिनेट की हुई बैठक में इस निर्णय पर मुहर भी लग गई है। इसकी जानकारी नेपाल के कानून, न्याय तथा संसदीय मामले के मंत्री व सरकार के प्रवक्ता ज्ञानेंद्र बहादुर कार्की ने दी है। हालांकि, बुधवार देर शाम तक वीरगंज बॉर्डर पर भारतीय चार पहिया वाहनों की आवाजाही शुरू नहीं हो सकी।नेपाल सरकार ने अभी सीमा खोलने की तिथि तय नहीं की गयी है। लेकिन माना जा रहा है कि जल्द ही आवागमन सहज हो जाएगा। जानकारों का कहना है कि बॉर्डर व्यवस्थापन के मद्देनजर कोविड प्रोटोकॉल के अनुपालन पर जोर है। जिससे बॉर्डर के पूर्णतया: खुलने में कुछ विलंब भी हो सकता है।वीरगंज बॉर्डर पर स्थिति बनी हुई है यथावत : बॉर्डर खुलने के निर्णय की सूचना पर बुधवार के अहले सुबह ही बड़ी संख्या में भारतीय नागरिक वाहनों के साथ वीरगंज बॉर्डर पहुंच गए। जहां इंट्री शुरू नहीं होने से उन्हें निराशा हुई। हालांकि, सुबह भारतीय बाइक की आवाजाही पर कड़ाई थी। लेकिन, बाद में रोक टोक में कमी देखी गई।

 

जबकि रक्सौल के दर्जनों भारतीय चार पहिया वाहन को प्रवेश नहीं मिलने से मैत्री पुल से लगे नोमेन्स एरिया पर पार्क किये दिखे। उन्हें नेपाल आर्म्ड पुलिस फोर्स ने नेपाल में प्रवेश से रोक दिया था। जबकि, पैदल आवाजाही जारी रही। मैत्री पुल से ई-रिक्शा, ऑटो, टांगा का संचालन हो रहा था। जबकि, शंकराचार्य गेट पर ही नेपाली ई-रिक्शा, ऑटो आदि को रोक दिए जाने से पैदल आवाजाही करनी पड़ रही थी। लोग इससे परेशान दिख रहे थे।

 

वीरगंज भंसार (कस्टम) कार्यालय के चीफ हरिहर पौडेल का कहना है कि अभी मालवाहक वाहनों के प्रवेश की ही अनुमति है। सामान्य वाहनों के लिए सीमा खोलने का आदेश आने पर उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी। अभी कोई नोटिफिकेशन नहीं मिला है। आदेश मिलने पर उसे त्वरित तौर पर लागू किया जाएगा। वहीं, परसा के सीडीओ पीताम्बर अधिकारी ने बताया कि राज्य या जिला प्रशासन के पास अभी तक कोई आदेश नहीं आया है।

input:daily bihar

 

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.