मोदी सरकार से भाजपा सांसद ने ही पूछा- ममता बनर्जी को रोम जाने से क्यों और किस कानून के तहत रोका

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की मुखिया ममता बनर्जी को केंद्र की मोदी सरकार ने अगले महीने रोम जाने के लिए अनुमति नहीं दी है। केंद्र सरकार के इस फैसले के बाद ममता बनर्जी ने तो हमला बोला ही, खुद भाजपा के सांसद ने भी अपनी ही सरकार को घेरा है। भारतीय जनता पार्टी के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने अपनी ही पार्टी के सरकार से पूछा है कि आखिर किस वजह से ममता बनर्जी को रोम जाने से रोका गया है।

 

भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर ट्वीट किया और पूछा- ‘गृह मंत्रालय ने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को रोम में एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में भाग लेने से क्यों रोका? कौन सा कानून उन्हें जाने से रोकता है?’ बता दें कि ममता बनर्जी को ‘विश्व शांति सम्मेलन’ में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित किया गया था।

 

दरअसल, इस साल अगस्त में बनर्जी को रोम में स्थित कैथोलिक एसोसिएशन, सेंट एगिडियो के समुदाय के अध्यक्ष मैक्रो इम्पाग्लियाजो ने कार्यक्रम में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया था। वह एकमात्र भारतीय हैं जिन्हें बुलाया गया है। पोप फ्रांसिस, जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल और मिस्र के अल-अलझर के सबसे बड़े इमाम एचई अहमद अल-तैयब सहित अन्य के 6 और 7 अक्टूबर, 2021 को होने वाले सम्मेलन में भाग लेने की उम्मीद है।

 

केंद्र सरकार के इस फैसले के बाद ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार के फैसले पर आपत्ति जाहिर करते हुए कहा है कि पीएम मोदी उनसे जलते हैं। ममता बनर्जी ने कहा कि केंद्र सरकार का फैसला उनकी पार्टी के प्रति ईष्या के भाव को व्यक्त करता है। ममता ने भवानीपुर विधानसभा उपचुनाव के लिए एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि इटली सरकार ने आगामी छह और सात अक्टूबर को आयोजित विश्व शांति सम्मेलन में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया था, लेकिन केंद्र की भाजपा सरकार ने उन्हें अनुमति से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि केंद्र की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कांग्रेस को पराजित कर सकती है , लेकिन उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस को नहीं हरा सकती।

 

ममता ने दावा किया कि भवानीपुर देश को भाजपा मुक्त भारत की ओर ले जायेगा और यहां के मतदाता उसी प्रदर्शन को दोहराएंगे जैसा उन्होंने 2011 और 2016 में किया था। उन्होंने भाजपा को चुनौती दी और कहा कि ‘खेला’ तभी खत्म होगा जब उनकी पार्टी पूरे देश में जीत हासिल करेगी। उन्होंने कहा कि केंद्र में भाजपा को हराने के लिए अकेले तृणमूल कांग्रेस ही काफी है। हमें अपनी आजादी की रक्षा करनी है। भाजपा भारत में नहीं चल सकती।

Input: Daily Bihar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.