ओड़िशा-तेलांगना और आंध्र प्रदेश में गुलाब से तबाही! उखड़े पेड़ और बिजली के खंभों की वजह से यातायात ठप

चक्रवाती तूफान गुलाब सोमवार की सुबह दक्षिण भारतीय राज्यों आंध्र प्रदेश और तेलांगना से टकराया। चक्रवाती तूफान गुलाब की वजह से तेलांगना के कुछ जिलों में भारी बारिश दर्ज की गई। तेलांगना के कई इलाकों में रूक-रूक कर मूसलाधार बारिश हो रही है। तेलांगना 40 से 45 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चलीं। हैदराबाद मौसम विज्ञान केंद्र की प्रमुख डॉ. के नागरत्ना ने ये जानकारी दी। डॉ. नागरत्ना ने बनाया तो तेलांगना के कई जिलों में भारी बारिश दर्ज की गई।

 

पश्चिम की तरफ बढ़ गया है ताऊते तूफान

 

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने बताया कि उत्तरी आंध्र प्रदेश सहित दक्षिण ओड़िशा में गहरे दवाब की वजह से चक्रवाती तूफान गुलाब पश्चिमी इलाकों की तरफ बढ़ रहा है। तूफान 27 सितंबर की सुबह साढ़े पांच बजे दक्षिण ओड़िशा और उत्तरी आंध्र प्रदेश के जगदलपुर और कलिंगपट्टनम से टकराया। आंध्र प्रदेश के भी कई जिलों में भारी बारिश हो रही है। बारिश और तेज हवा की वजह से जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। हालांकि कुछ इलाकों में लोगों ने सामान्य जन-जीवन की शुरुआत की है।

 

श्रीकाकुलम में अस्त-व्यस्त हो गया है जीवन

 

आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम जिले के कलिंगपट्टनम शहर में भी लोगों ने सामान्य जीवन शुरू कर दिया है। सोमवार की सुबह इन लोगों ने तेज हवा और बारिश का भी सामना किया था। ओड़िशा के भी कई जिलों में लोगों ने तेज हवा को महसूस किया।

 

उखड़े पेड़ और बिजली के खंभो से यातायात ठप

 

इस बीच एनडीआरएफ के कमांडेंट सुशांत कुमार बेहरा ने बताया कि 10 बड़े पेड़ उखड़ गए हैं। पेड़ गिरने की वजह से सड़क जाम हो गया है। बिजली के खंभों को नुकसान पहुंचा है जिसे जेसीबी की मदद से ठीक किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 1 घंटे में सड़क यातायात शुरू कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि पूरी टीम काम कर रही है। गौरतलब है कि बीते जून महीने में गुजरात और मुंबई को ताऊते तूफान ने काफी प्रभावित किया था। केरल और गोवा में भी इसका असर दिखा था।

 

Input: DTW24

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.