गुलाब के बाद अब चक्रवाती तूफान ‘शाहीन’ का खतरा, इन राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी, जानें- मौसम का ताजा अपडेट

नई दिल्ली एजेंसी। मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि अरब सागर में गहरा दबाव शुक्रवार सुबह चक्रवात शाहीन में तब्दील हो गया। शाम तक इसके गंभीर चक्रवात के रूप में और तेज होने की संभावना है। हालांकि, यह भारतीय तट से दूर जा रहा है। मौसम विभाग ने कहा कि उत्तर-पूर्वी अरब सागर और पड़ोस के क्षेत्र से शाहीन चक्रवात 20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उत्तरी अरब सागर के मध्यवर्ती क्षेत्र की ओर बढ़ गया। अगले 12 घंटों में इसके गंभीर चक्रवात में बदलने की संभावना है।

 

अगले 36 घंटों में यह उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ जाएगा और पाकिस्तान के मकरान तट से टकराएगा। शाहीन चक्रवात गुलाब तूफान से उत्पन्न परिस्थितियों से बना है, जो 26 सितंबर को पूर्वी तट से टकराया था। मध्य भारत, तेलंगाना, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र और गुजरात के कुछ हिस्सों को पार करने के बाद गुलाब की तीव्रता और कम हो गई थी। जैसे ही यह अरब सागर में दाखिल हुआ तो गहरा दबाव शुक्रवार की सुबह सघन होकर एक नए तूफान में बदल गया। यह एक असाधारण घटना है, जिसमें बंगाल की खाड़ी में उत्पन्न कोई तूफान देश के विभिन्न हिस्सों को पार कर पश्चिमी तट पर पहुंचा और फिर से एक तूफान में तब्दील हो गया।

मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवाती तूफान शाहीन के आज देर रात तक या कल सुबह तक खतरनाक रूप ले सकता है। हालांकि भारत में इसका ज्यादा असर नहीं होगा। आईएमडी के चक्रवात चेतावनी प्रभाग के अनुसार, सिस्टम भारतीय तट से दूर जा रहा है।

आईएमडी के मुताबिक पूर्वोत्तर अरब सागर के ऊपर बन रहा चक्रवाती तूफान शाहीन आज उत्तर अरब सागर के मध्य भागों में लगभग 20 किमी प्रति घंटे की गति के साथ पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ गया है। जिससे अगले 36 घंटों के दौरान इसके पश्चिम-उत्तर-पश्चिम और मकरान तट (पाकिस्तान) की ओर बढ़ने की संभावना है। लेकिन इस दौरान कच्छ और सौराष्ट्र में तेज बारिश हो सकती है।

 

मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवाती तूफान शाहीन के तेज होने के बाद 90 से लेकर 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने की संभावना है। इसके अरब सागर में भारत के तटों से पाकिस्तान में मकरन के तटों की तरफ बढ़ने की आशंका है।

 

इन राज्यों में होगी तेज बारिश

 

मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवाती तूफान ‘शाहीन’ के कारण सात राज्यों बिहार, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक और गुजरात में बहुत तेज बारिश होगी। मालूम हो कि चक्रवाती तूफान की शुरूआत 26 सितंबर को आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तटीय क्षेत्रों में हुआ था। इसका विकास चक्रवात गुलाब के आने के बाद हुआ। मौसम विभाग के अनुसार गुजरात क्षेत्र, दमन, दीव, दादरा और नगर हवेली में अलग-अलग स्थानों पर चक्रवाती तूफान के कारण बहुत तेज बारिश होने की संभावना है। साथ ही उत्तरी कोंकण में अलग-अलग स्थानों पर भी बारिश हो सकती है।राजधानी दिल्ली में हल्की बारिश

 

राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हुई। इससे न्यूनतम तापमान सामान्य से चार डिग्री अधिक 26.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। आईएमडी के अनुसार, हवा में आर्द्रता का स्तर 80 फीसद दर्ज किया गया। वहीं, अधिकतम तापमान के 35 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का अनुमान है। मौसम विभाग की वेबसाइट पर शनिवार को भी हल्की बारिश का अनुमान जताया गया है। बताया गया है कि दिन में बादल छाए रहने के साथ ही दोपहर या शाम के समय हल्की बारिश या बूंदाबांदी हो सकती है। अगले तीन दिनों के दौरान आसमान में बादल छाए रहने और हल्की बारिश या बूंदा बांदी होने की संभावना है। मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, मानसून की वापसी में देरी के कारण अक्टूबर के पहले सप्ताह में हल्की बारिश का पूर्वानुमान है।

 

Input: Jagran

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.