रेलवे ने हाई स्‍कूल पास युवाओं के लिए शुरू किया स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम, ऑनलाइन कर सकते हैं अप्‍लाई

देश के युवाओं को रोजगार देने के लिए कौशल विकास मंत्रालय द्वारा विभिन्न प्रकार के स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम चलाए जा रहे हैं. इसी क्रम में भारतीय रेलवे ने भी रेलवे स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम की शुरुआत की है. इस प्रोग्राम के तहत देश के अलग-अलग हिस्सों में कुल 75 रेलवे स्किल डेवलपमेंट सेंटर की शुरुआत की गई है. इसमें पूर्व मध्य रेल हाजीपुर जोन का दीनदयाल उपाध्याय रेलवे मंडल भी शामिल है.

 

रेलवे द्वारा शुरू किए गए स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम में हाई स्कूल पास युवाओं को स्किल ट्रेनिंग का एक सुनहरा मौका दिया जा रहा है. 18 कार्य दिवस में कुल 100 घंटे की ट्रेनिंग पाकर युवकों को हुनरमंद बनाने की कोशिश की जा रही है ताकि वह स्वावलंबी और आत्मनिर्भर बन सकें.

 

तस्वीरें पूर्व मध्य रेल के दीनदयाल उपाध्याय रेल मंडल के दीनदयाल नगर स्थित इलेक्ट्रिकल ट्रेनिंग सेंटर की है. यहां पर भारतीय रेलवे द्वारा रेलवे स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम की शुरुआत की गई है. इस प्रोग्राम के तहत पहले सत्र में 20 युवाओं को इलेक्ट्रिशियन ट्रेड से संबंधित ट्रेनिंग दी जाएगी.

 

यह ट्रेनिंग कुल 18 दिनों तक चलेगी जिसमें कुल 100 घंटे की पढ़ाई होगी और रेलवे के एक्सपोर्ट इन युवकों को इलेक्ट्रीशियन की ट्रेनिंग देंगे. इस दौरान इन युवकों को इलेक्ट्रीशियन ट्रेड में थ्योरी की पढ़ाई की जाएगी. साथ साथ तकरीबन 70 घंटे का प्रैक्टिकल ट्रेनिंग भी दिया जाएगा ताकि इनके हुनर में निखार आ सके.

 

रेलवे ने हाई स्‍कूल पास युवाओं के लिए शुरू किया स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम, ऑनलाइन कर सकते हैं अप्‍लाई

 

 

 

 

देश के युवाओं को रोजगार देने के लिए कौशल विकास मंत्रालय द्वारा विभिन्न प्रकार के स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम चलाए जा रहे हैं. इसी क्रम में भारतीय रेलवे ने भी रेलवे स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम की शुरुआत की है. इस प्रोग्राम के तहत देश के अलग-अलग हिस्सों में कुल 75 रेलवे स्किल डेवलपमेंट सेंटर की शुरुआत की गई है. इसमें पूर्व मध्य रेल हाजीपुर जोन का दीनदयाल उपाध्याय रेलवे मंडल भी शामिल है.

 

रेलवे द्वारा शुरू किए गए स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम में हाई स्कूल पास युवाओं को स्किल ट्रेनिंग का एक सुनहरा मौका दिया जा रहा है. 18 कार्य दिवस में कुल 100 घंटे की ट्रेनिंग पाकर युवकों को हुनरमंद बनाने की कोशिश की जा रही है ताकि वह स्वावलंबी और आत्मनिर्भर बन सकें.

 

 

 

 

लम्बे समय तक सेक्स करने के लिए कुछ खास

 

तस्वीरें पूर्व मध्य रेल के दीनदयाल उपाध्याय रेल मंडल के दीनदयाल नगर स्थित इलेक्ट्रिकल ट्रेनिंग सेंटर की है. यहां पर भारतीय रेलवे द्वारा रेलवे स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम की शुरुआत की गई है. इस प्रोग्राम के तहत पहले सत्र में 20 युवाओं को इलेक्ट्रिशियन ट्रेड से संबंधित ट्रेनिंग दी जाएगी.

 

यह ट्रेनिंग कुल 18 दिनों तक चलेगी जिसमें कुल 100 घंटे की पढ़ाई होगी और रेलवे के एक्सपोर्ट इन युवकों को इलेक्ट्रीशियन की ट्रेनिंग देंगे. इस दौरान इन युवकों को इलेक्ट्रीशियन ट्रेड में थ्योरी की पढ़ाई की जाएगी. साथ साथ तकरीबन 70 घंटे का प्रैक्टिकल ट्रेनिंग भी दिया जाएगा ताकि इनके हुनर में निखार आ सके.

 

 

 

दरअसल, इस दौर में युवाओं के सामने रोजगार एक बड़ी चुनौती के रूप में सामने आई है. ऐसे में कौशल विकास मंत्रालय द्वारा युवाओं को हुनरमंद बनाने के लिए इस तरह की योजनाएं चलाई जा रही हैं. रेलवे द्वारा चलाई जा रही रेलवे स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम में ट्रेनिंग लेने के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता हाई स्कूल रखी गई है और इसमें पात्र युवकों का चयन उनके मेरिट के आधार पर किया जा रहा है. आवेदन के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों व्यवस्था रेलवे की तरफ से की गई है.

 

मेरिट के आधार पर चयन :

आवेदन के बाद आवेदनकर्ता के मेरिट के आधार पर उनका चयन स्किल डेवलपमेंट ट्रेनिंग के लिए किया जा रहा है. रेल मंडल के इलेक्ट्रिकल ट्रेनिंग सेंटर पर शुरू किए गए रेलवे कौशल विकास ट्रेनिंग सेंटर में पूर्वांचल और बिहार के कुल 20 युवाओं का चयन किया गया है. रेलवे द्वारा आयोजित इस स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम में चयनित युवा भी इस प्रोग्राम से काफी खुश हैं और उनको उम्मीद है कि 18 दिनों की यह ट्रेनिंग उनके जीवन में बड़ा बदलाव लाएगी और उनको आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में काफी कारगर साबित होगी.

 

इस संदर्भ में दीनदयाल उपाध्याय रेल मंडल के डीआरएम राजेश कुमार पांडेय ने जानकारी देते हुए बताया कि रेलवे ने रेलवे कौशल विकास योजना लॉन्च किया है. दीनदयाल उपाध्याय रेल मंडल का इलेक्ट्रिकल ट्रेनिंग सेंटर चयनित किए गए 75 लोकेशंस में एक है जिसमें इलेक्ट्रीशियन ट्रेड से ट्रेनिंग दी जाएगी ताकि उनके कौशल का विकास हो सके और उनका स्किल डेवलप हो सके.

 

100 घंटे की होगी ट्रेनिंग

यह ट्रेनिंग करीब 100 घंटे की होगी जो 18 दिनों तक चलेगी. भारतीय रेलवे में 75 ट्रेनिंग सेंटर रेलवे कौशल विकास योजना का चल रहा है. यह पूर्व मध्य रेल में तीन स्थानों पर चल रहा है. एक हरनौत वर्कशॉप है, एक समस्तीपुर वर्कशॉप है और एक इलेक्ट्रिकल ट्रेनिंग सेंटर दीनदयाल उपाध्याय रेल मंडल है.

 

वहीं रेलवे द्वारा आयोजित किए गए इस प्रोग्राम से युवा भी काफी उत्साहित दिखाई दिए. स्किल डेवलपमेंट की ट्रेनिंग लेने आए सूर्यप्रकाश मिश्रा ने बताया कि इसके लिए रेल मंत्रालय की ऑफिशियल वेबसाइट पर फॉर्म आया था तो उन्‍होंने ऑनलाइन फार्म अप्लाई किया था. उसके बाद दसवीं की मेरिट के हिसाब से चयन हुआ. शार्टलिस्ट करने के बाद डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन किया गया जिसके बाद ट्रेनिंग के लिए बुलाया गया.

 

Input: DTW24

 

 

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.