जीत का जश्न मना रही थीं जिला पार्षद, पुलिस ने पति और समर्थकों के साथ किया गिरफ्तार

बिहार पंचायत चुनाव (Bihar Panchayat Election 2021) के दूसरे चरण का परिणाम (Second Phase Result) आते ही राज्य के अलग-अलग जिलों से हैरान करने वाली तस्वीरें सामने आ रही हैं. एक ऐसी ही हैरान करने वाली तस्वीर बिहार के बांका जिले से सामने आई, जहां चुनाव परिणाम आते ही विजयी घोषित होने के बाद जिला पार्षद को गिरफ्तार कर लिया गया. दरअसल द्वितीय चरण के मतगणना में पहली बार विजयी घोषित हुई नवनिर्वाचित जिला पार्षद मोना मिश्रा (Mona Mishra) और उनके समर्थकों की कुछ पल की खुशी उस समय परेशानी में तब्दील हो गयी जब विजयी जुलूस के दौरान नवनिर्वाचित जिला पार्षद मोना मिश्रा समेत तीन महिला समर्थक और उनके पति रवि मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया गया. मिली जानकारी के अनुसार मोना मिश्रा जीत की खुशी में विजयी जुलूस के साथ अपने घर समुखिया जा रही थी. इसी बीच अचार संहिता उल्लंघन के मामले में मोना मिश्रा और उनके समर्थकों को गिरफ्तार कर लिया गया. साथ ही उनके वाहनों को भी जब्त कर बांका (Banka) थाने में लाया गया है.

 

बताया जा रहा है कि जब जुलूस के साथ सभी लोग अपने घर लौट रहे थे, इसी बीच बांका-अमरपुर मुख्य मार्ग के गरनिया के पास सड़क जाम हो गया और इसी दौरान बांका से पुलिस लाइन लौट रहा एक पुलिस वाहन भीड़ में असंतुलित होते हुए दुर्घटनाग्रस्त हो गया. इस घटना में 2 पुलिसकर्मी गंभीर रूप से जख्मी हो गए

 

पति भी निर्वाचित हो चुके हैं तीन बार मुखिया

 

पुलिस के अनुसार जुलूस के दौरान आचार संहिता के अवहेलना करने को लेकर मोना मिश्रा की कार और उनके समर्थकों की बाइक जब्त करते हुए बांका थाना लाया गया है. सभी के खिलाफ मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी. बताया जाता है कि मोना मिश्रा के पति रवि मिश्रा भाजपा के पंचायती राज के जिलाध्यक्ष भी हैं. रवि मिश्रा बांका के समुखिया पंचायत से तीन बार मुखिया भी निर्वाचित हो चुके हैं. इस बार उनकी पत्नी मोना मिश्रा ने जिलापार्षद के रूप में अपने प्रतिद्वंदी को 2700 मतों से पराजित किया है.

 

Input: DTW24

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.