अल्पसंख्यक स्कॉलरशिप योजना: अब 50% से कम अंक वाले छात्र भी ले सकेंगे लाभ, जानें नए नियम

क्या आप केंद्र सरकार की अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति योजना (Minority Scholarship Scheme) का लाभ लेना चाहते हैं, लेकिन 50 फीसदी से कम अंक होने के कारण निराश हैं, तो आपके लिए एक अच्छी …

सोलर फ्रिज से बिजली का बिल हुआ कम, 15 हजार महीना बढ़ी कमाई, 80 प्रतिशत तक मिलती है सब्सिडी

साफिया बानो और खलील अहमद, उत्तर प्रदेश के फैजाबाद में ‘मुस्कान बेकर्स और डेयरी’ चलाते हैं। बिना रेफ्रिजरेटर उनका काम चलना मुश्किल है। लेकिन उनकी दुकान में जो फ्रिज था, उसकी वजह से हर …

मिलिए 300 से अधिक आविष्कार कर चुके कनुभाई से, उनका बनाया ‘थ्री इन वन बेड’ है बड़े काम की चीज़

कभी-कभी छोटे-छोटे जुगाड़ भी बड़े आविष्कार में बदल जाते हैं। इन जुगाड़ों से हम अपने काम को आसान बना देते हैं। लेकिन यकीन मानिए एक सही जुगाड़ करना और उसे आविष्कार में …

11 दोस्तों ने मिलकर छेड़ा अनोखा अभियान, मात्र 10 रुपये में खिलाते हैं पेटभर खाना

यह कहानी राजस्थान के श्रीगंगानगर शहर की है, जहाँ 11 दोस्तों ने मिलकर एक ऐसी रसोई बनाई है, जो रोजाना तकरीबन एक हजार लोगों को खाना परोसती है। महंगाई के …

पाँच दोस्तों ने मिल शुरू किया मसालों का बिजनेस, 300 आदिवासी परिवारों को मिली नई उम्मीद!

लॉकडाउन के दौरान अपने घर लौट रहे प्रवासी मज़दूरों के दर्द को पूरे देश ने महसूस किया। इस दौरान, सड़क पर भूख-प्यास के कारण कई मज़दूरों की जानें भी चली …

माँ-बेटी की जोड़ी ने शुरू किया मसालों का बिज़नेस, सैकड़ों महिलाओं को बनाया आत्मनिर्भर

प्रज्ञा अग्रवाल दिल्ली में रहती हैं। उनके पास एक मेड है – पार्वती। प्रज्ञा ने देखा कि उनके चेहरे पर चोट के कई निशान हैं। फिर, कई दिनों तक विचार …

कच्छ का रण: जानिए 4000+ सोलर पैनल से कैसे आबाद हुआ ‘नमक का रेगिस्तान’

गुजरात में अरब सागर से करीब सौ किलोमीटर दूर ‘कच्छ का रण’ है, जो पूरी दुनिया में ‘नमक का रेगिस्तान’ के रूप में मशहूर है। कछुए के आकार का यह क्षेत्र, बड़ा रण …

‘नफरत जीत गई, आर्टिस्ट हार गया, गुड बाय’, बेंगलूरू शो रद्द होने के बाद भावुक हुए मुनव्वर फारूकी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हिंदू देवी-देवताओं पर टिप्पणी करने वाले कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी के एक शो को बेंगलुरू पुलिस ने परमिशन नहीं दी, जिसके बाद उन्होंने सोशल मीडिया पर एक भावुक पोस्ट …

Ramesh Gholap: एक टांग पोलियो निगल गया, भूख ने बचपन खा लिया, मां के साथ चूड़ियां बेचीं, आज IAS हैं

ये तो हम सब जानते हैं कि ज़िंदगी इम्तिहान लेती है, लेकिन कई लोगों को तो ये ज़िंदगी ऐसा बना देती है कि वे इस इम्तिहान में बैठने लायक भी नहीं …

चिरंजीवी और सोनू सूद की मदद के बाद भी नहीं बच सकी मास्टर शिवशंकर की जान, कोरोना के कारण हुआ निधन

साउथ सिनेमा के जाने माने कोरियोग्राफर शिवा शंकर मास्टर 72 वर्ष की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कह दिया. उनकी मृत्यु कोरोना संक्रमण के कारण हुई है. पिछले कुछ समय …